मोदी सरकार के कृषि विधेयकों के खिलाफ किसानों का भारत बंद आज, देश भर में चक्का जाम और प्रदर्शन का ऐलान

देश भर के किसान केंद्र द्वारा लाए गए कृषि विधेयकों के खिलाफ आज भारत बंद के तहत हर राज्य में प्रदर्शन करेंगे। किसानों इन विधेयकों को किसान विरोधी कहा है। किसान इन्हें वापस लेने और फसलों की एमएसपी के कानूनी प्रावधान की मांग कर रहे हैं।

फोटो : Getty Images
फोटो : Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि विधेयकों के खिलाफ आज देश भर के किसानों ने भारत बंद का ऐलान किया है। पंजाब, हरियाणा, यूपी, राजस्थान, मध्य प्रदेश, बिहार समेत तमाम राज्यों ने इस बंद को कामयाब बनाने के लिए कमर कस ली है। स्वराज इंडिया, भारतीय किसान यूनियन और अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति ने दो दिन पहले ही 25 सितंबर को भारत बंद का ऐलान कर दिया था।

मोदी सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ और संसद में लाए गए कृषि विधेयकों के खिलाफ पहले से ही कई राज्यों में किसान सड़कों पर हैं। मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने इस बंद को समर्थन दिया है और देश भर में प्रदर्शन की योजना बनाई है। इस दौरान हरियाणा में पानीपत से दिल्ली जा रहे किसानों को सीमा पर ही रोका गया। इन्हें रोकने के लिए हरियाणा पुलिस ने बल प्रयोग किया और आंसू गैस के गोले छोड़े।

किसानों ने केंद्र सरकार द्वारा लाये गये कृषि से संबंधित तीनों विधेयकों को खेती किसानी को बरबाद करने की साजिश करार दिया है।

इस बीच गुरुवार को कृषि विधेयकों के खिलाफ सैकड़ों किसानों ने बुधवार को उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में विरोध मार्च निकाला। टप्पल में एक चौराहे पर भारी संख्या में तैनात पुलिस प्रदर्शनकारियों को यमुना एक्सप्रेस-वे पर प्रवेश करने से रोक दिया।

वहीं समाजवादी पार्टी ने शुक्रवार को पूरे उत्तर प्रदेश में जिलाधिकारियों के माध्यम से राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौंपने का ऐलान किया है।

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता और उत्तर प्रदेश के किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि कृषि विधेयकों के विरोध में पूरे देश में 25 सितंबर को चक्का जाम रहेगा। जिसके तहत पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, कर्नाटक समेत तकरीबन पूरे देश के किसान संगठन इस बंद को सफल बनाने का प्रयास करेंगे।

Published: 25 Sep 2020, 7:00 AM
लोकप्रिय
next