मोदी सरकार में लगातार बढ़ रही मॉब लिंचिंग की घटनाएं, त्रिपुरा के बाद बंगाल में 5 युवकों की बेहरमी से हुई पिटाई

पश्चिम बंगाल के उत्तरी दिनाजपुर जिले में मॉब लिंचिंग की घटना सामने आई है। यहां मवेशी चोरी होने के शक में पांच युवकों के साथ बेरहमी से मारपीट की गई है। दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को मॉब लिंचिंग मामले पर तुरंत सुनवाई करने से इंकार कर दिया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मोदी सरकार में मॉब लिंचिंग मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। एक ओर बीजेपी सरकार इस पर लगाम लगाने में नाकाम हो रही है तो दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को मॉब लिंचिंग मामले पर तुरंत सुनवाई से इंकार कर दिया। कोर्ट ने कहा, समय आने पर इस मामले की सुनवाई होगी। बता दें कि मॉब लिंचिंग मामलों पर तात्‍कालिक सुनवाई के आग्रह के साथ कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी।

इस बीच एक ओर मामला सामने आया है। पश्चिम बंगाल के उत्तरी दिनाजपुर जिले का है। जहां मवेशी चोर होने के संदेह में 5 युवकों को गांववालों ने बेरहमी से पिटाई की है। पुलिस के मुताबिक, पांचों युवकों को ग्रामीणों से मुक्त कराया और उन्हें स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। पुलिस ने बताया कि पांचों युवकों को ग्रामीणों ने रविवार रात करनडिगी क्षेत्र में पकड़ा और बेरहमी से पिटाई की। यह क्षेत्र भारत-बांग्लादेश सीमा पर है और ये युवक क्षेत्र में संदिग्ध रूप से घूम रहे थे।

इससे पहले त्रिपुरा के धलाई जिले में भारत-बांग्लादेश सीमा पर एक दूरदराज के आदिवासी गांव में एक संदिग्ध मवेशी चोर की लोगों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी थी। पुलिस उप महानिरीक्षक अरिंदम नाथ ने कहा कि गांव के लोगों के एक समूह ने एक व्यक्ति को मवेशी चोर होने के संदेह में पीट-पीटकर मार डाला।

इसे भी पढ़ें: बीजेपी शासित राज्यों में भीड़ की हिंसा जारी, त्रिपुरा में मवेशी चोरी के शक में एक शख्स को पीट-पीटकर मार डाला

बीते रोज बिहार के वैशाली जिले में एक घर में चोरी के आरोप में शख्स को भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला था। पुलिस ने घटनास्थल से धारदार हथियार को बरामद किया था। एसएचओ धर्मजीत महतो ने बताया था, “शख्स के शव को कस्टडी में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

लोकप्रिय
next