ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत पिछड़कर 101वें स्थान पर गिरा, पाकिस्तान और नेपाल से भी नीचे पहुंचा

इस साल के लिए ग्लोबल हंगर इंडेक्स रिपोर्ट जारी कर दी गई है। साल 2021 की रिपोर्ट में भारत की स्थिति और चिंताजनक हो गई है। पिछले साल के 94वें स्थान से फिसलकर भारत 101वें स्थान पर पहुंच गया है और इस सूची में पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल से भी पीछे है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पीएम मोदी के नेतृत्व में विश्वगुरु बनने की राह पर अग्रसर भारत वैश्विक भूख सूचकांक-2021 (ग्लोबल हंगर इंडेक्स) की 116 देशों की सूची में पिछड़कर 101वें स्थान पर आ गया है। गुरुवार को जारी इस रिपोर्ट में भारत अपने पड़ोसी पाकिस्तान, बांग्लादेश और यहां तक कि नेपाल से भी पीछे हैं। इससे पहले साल 2020 में जारी ग्लोबल हंगर इंडेक्स की सूची में भारत 94वें स्थान पर था।

दुनिया भर में भूख और कुपोषण की स्थिति की जानकारी देने वाले ग्लोबल हंगर इंडेक्स (जीएचआई) की वेबसाइट पर गुरुवार को जारी इस रिपोर्ट में कहा गया कि इस सूची में चीन, ब्राजील और कुवैत समेत 18 देश शीर्ष स्थान पर हैं, जिनका जीएचआई स्कोर पांच से कम है। इस रिपोर्ट में भारत का जीएचआई स्कोर 28.8 से 27.5 के बीच रहा, जो 2000 में 38.8 था।


इस रिपोर्ट को आयरलैंड की एजेंसी कन्सर्न वर्ल्डवाइड और जर्मनी के संगठन वेल्ड हंगर हिल्फ ने मिलकर तैयार की है। 2020 में इस सूची में 107 देश थे, तब भारत 94वें स्थान पर था। अब इस साल इस सूची में 116 देश हो गए हैं, तो भारत 101वें स्थान पर फिसल गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत सबसे अधिक चाइल्ड वेस्टिंग वाला देश है जहां कोविड-19 महामारी और इसके चलते लगाए गए प्रतिबंधों से लोग बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।

गौरतलब है कि भारत के पड़ोसी देशों की ग्लोबल हंगर इंडेक्स में स्थिति कहीं बेहतर है। इश सूची में नेपाल 76वें स्थान पर है। बांग्लादेश 76वें स्थान पर, पाकिस्तान 92वें स्थान पर और म्यांमार 71वें स्थान पर है। रिपोर्ट में इन देशों में भी भूख की स्थिति को चिंताजनक करार दिया गया है। हालांकि, ये देश भारत के मुकाबले अपने नागरिकों की भूख मिटाने में कहीं अधिक बेहतर स्थिति में हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia