कमलेश तिवारी हत्याकांड: सौहार्द्र बिगाड़ने वाली पोस्टों की आई बाढ़, यूपी में 72 घंटों के अंदर 32 मामले दर्ज

लखनऊ में 18 अक्टूबर को हुए कमलेश तिवारी हत्याकांड के बाद से ही सोशल मीडिया में साम्प्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने वाली पोस्टों की बाढ़ आ गई थी। हेट पोस्ट को लेकर उत्तर प्रदेश में पिछले 72 घंटों में 32 प्राथमिकियां दर्ज हो चुकी हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या के बाद सोशल मीडिया पर हेट पोस्ट (घृणा फैलाने वाली) डालने के मामले में उत्तर प्रदेश में पिछले 72 घंटों में 32 प्राथमिकियां दर्ज हो चुकी हैं। सोशल मीडिया मॉनीटरिंग विंग संभालने वाले एक अधिकारी ने कहा, “कमलेश तिवारी की हत्या, आगामी त्यौहारी मौसम, आतंकवादी खतरे की खुफिया जानकारी और अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के लंबित निर्णय ने स्थिति को और संवेदनशील बना दिया है।”

उन्होंने कहा, “सोशल मीडिया घृणा फैलाने के लिए एक त्वरित प्लेटफॉर्म बन चुका है और हम इसके लिए जिम्मेदार लोगों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लगाने में बिल्कुल नहीं हिचकेंगे।” महानिरीक्षक (कानून व्यवस्था) प्रवीन कुमार ने कहा कि 18 अक्टूबर को कमलेश तिवारी की हत्या होने के बाद सोशल मीडिया पर हेट पोस्ट्स की बाढ़ आ गई है।


उन्होंने कहा, “हमने 178 सोशल मीडिया अकाउंट्स ब्लॉक कर दिए हैं। पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) मुख्यालय पर स्थित सोशल मीडिया मॉनीटरिंग सेल सोशल मीडिया पर लगातार नजर बनाए हुए है। हम सामाजिक सौहाद्र बिगाड़ने वाले तत्वों को सफल नहीं होने देंगे।” मौजूदा स्थिति को देखते हुए राज्य की पुलिस सोशल मीडिया पर लगातार नजर बनाए हुए है।

बता दें कि हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या के बाद से ही सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट किए जा रहे हैं। इसे लेकर पुलिस सोशल मीडिया पर करीबी नजर रख रही है। वहीं कमलेश तिवारी हत्याकांड में फरार दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपियों का नाम अशफाक और मोइनुद्दीन है। दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी पर कमलेश तिवारी की मां कुसुम ने खुशी जाहिर की है। कुसुम तिवारी ने कहा कि सभी को फांसी दे दी जानी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: कमलेश तिवारी पर किए गए थे चाकुओं से 15 वार फिर मारी गई थी एक गोली, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा

बता दें कि 18 अक्टूबर को ही हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की लखनऊ में उनके घर में घुसकर हत्या कर दी गई थी।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;