एमपी: शिवराज की सभा से गिरफ्तार महिला पुलिस अभ्यर्थियों का आरोप, जेल में कराया गया प्रेग्नेंसी टेस्ट

मध्य प्रदेश में ऊंचाई कम होने के कारण पुलिस भर्ती से बाहर की गईं महिला पुलिस अभ्यर्थियों ने जब सीएम शिवराज सिंह चौहान के कार्यक्रम में पहुंचकर अपनी बात कहने की कोशिश की, तो उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

मध्य प्रदेश में ऊंचाई कम होने के कारण पुलिस भर्ती से बाहर की गईं महिला अभ्यर्थियों ने जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यक्रम में पहुंचकर अपनी बात कहने की कोशिश की, तो उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। गुरुवार को रिहा की गईं 9 महिला अभ्यर्थियों ने कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि जेल प्रबंधन ने उनका प्रेग्नेंसी टेस्ट कराया, जिससे वे बेहद आहत हैं। छात्राओं का नेतृत्व करने वाली प्रीति शर्मा ने कहा, “बुधवार की रात नौ महिला अभ्यर्थियों को धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। रिहा होने के बाद इन महिला अभ्यर्थियों ने गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि जेल में उनका प्रेग्नेंसी टेस्ट कराया गया। यह कितनी अफसोस की बात है।”

प्रीति के मुताबिक, प्रेग्नेंसी टेस्ट कराए जाने से सभी महिला अभ्यर्थी आहत हैं, उनके साथ जेल प्रबंधन ने ऐसा क्यों किया, यह समझ से परे है। जेल प्रबंधन ने उन्हें मानसिक तौर पर भी प्रताड़ित किया।

महिला अभ्यर्थियों के आरोप के बाद जेल प्रबंधन की ओर से अभी तक कोई अपना पक्ष नहीं रखा गया है।

महिला अभ्यर्थियों अपनी मांगों को लेकर शाहजहांनी पार्क में उपवास कर रही थीं, मगर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सरकार की ओर से कोई पहल न किए जाने पर कुछ महिला अभ्यर्थी बुधवार की शाम मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में पहुंच गईं। महिला अभ्यर्थियों ने जब मुख्यमंत्री से अपनी बात कहना चाही तो मुख्यमंत्री ने बात सुनने की बजाय उन्हें धमकाया। उसी समय पुलिस उन्हें पकड़कर महिला थाने ले गई। रात 10 बजे इन लड़कियों को केंद्रीय जेल ले जाया गया।

मुख्यमंत्री शिवराज ने पुलिस में महिला उम्मीदवारों की भर्ती के लिए ऊंचाई में छूट देने की घोषणा की थी। पुलिस में भर्ती होने की इच्छुक ये लड़कियां सभी परीक्षाओं में सफल रहीं, लेकिन ऊंचाई 155 सेंटीमीटर से कम होने के कारण इन लड़कियों को नियुक्ति के लायक नहीं माना गया। अब ये लड़कियां मुख्यमंत्री की घोषणा याद दिलाते हुए आंदोलन कर रही हैं।

इसे भी पढ़ें: सीएम शिवराज ने महिला पुलिस अभ्यर्थियों को दिया धोखा, भर्ती से बाहर हुई अभ्यर्थियों ने रखा सामूहिक उपवास

मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमल नाथ और कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस घटना की कड़ी निंदा की। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोलते हुए कहा कि लाडली लक्ष्मी की बड़ी-बड़ी बातें करने वाली सरकार अब अपनी ही घोषणाओं से मुकर कर दादागिरी पर उतर आई है।

लोकप्रिय
next