शाह के बाद मनोज तिवारी ने भी माना, दिल्ली चुनाव में असली करेंट BJP को लगा, कहा- शाहीन बाग जाने की हैसियत नहीं

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने माना है कि चुनाव के नतीजों से असली करेंट बीजेपी को लगा है। इससे पहले गृहमंत्री अमित शाह ने भी एक कार्यक्रम में माना कि नफरत भरे बयानों के कारण दिल्ली में बीजेपी को नुकसान हुआ है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली विधानसभा चुनावों में हार पर गृहमंत्री अमित शाह ने जहां कबूल किया कि नफरत भरे बयानों के कारण बीजेपी को नुकसान हुआ, वहीं दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने माना है कि इन चुनावों में असली करेंट उन्हें ही लगा है। उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि अगर सीएम चेहरा लेकर चुनाव में उतरते तो नतीजे कुछ और होते। मनोज तिवारी ने यह बात एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कही।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद भी दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी का वह ट्वीट अभी भी सोशल मीडिया पर चुटकियां लेकर वायरल हो रहा है जिसमें उन्होंने दावा किया था कि दिल्ली में बीजेपी को 48 सीटें मिलेंगी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि ‘मेरा यह ट्वीट सुरक्षित रख लेना।’ लेकिन नतीजे आने के बाद उन्होंने मान लिया है कि दिल्ली चुनाव में असली करेंट उन्हें यानी उनकी पार्टी बीजेपी को लगा है। ध्यान रहे कि गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली में चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि, “इस बार ईवीएम का बटन इतनी जोर से दबाना कि करेंट शाहीन बाग तक लगे।” ध्यान रहे कि शाहीन बाग में बीते दो माह से नागरिकता संशोधन कानून और प्रस्तावित एनारी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन और धरना चल रहा है। चुनाव प्रचार में बीजेपी ने शाहीन बाग को जबरदस्त मुद्दा बनाया था।

गुरुवार को एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में चुनाव में मिली हार पर मनोज तिवारी ने खुलकर चर्चा की। जब उनसे पूछा गया कि चुनावी नतीजों से करंट लगा या नहीं? इसपर उन्होंने कहा कि “ करंट तो लगा ही है।“ साथ ही उहोंने कहा कि, “मुझे लगता है कि हमें अपना मैनिफेस्टो थोड़ा पहले लाना चाहिए था, ताकि समय रहते उसे लोगों को पहुंचाया जा सता।“ उन्होने कहा कि, “जो भी लोग शाहीन बाग भ्रम फैला रहे हैं उन्हें करंट लगने की बात कही गई थी। नेशनल रिजस्टर ऑफ सिटीजन (एनआरसी) पर कोई बातचीत नहीं हुई है। प्रधानमंत्री भी इस बात को साफ कर चुके हैं लेकिन शाहीन बाग के लोग इसपर जनता के बीच भ्रम फैला रहे हैं।“

मनोज तिवारी से जब पूछा गया कि क्या अब वे शाहीन बाग जाएंगे, तो उनका जवाब था कि, “मैं किस हैसियत से शाहीन बाग जाऊं। वहां मुझपर हमला हो सकता है इस वजह से मैं वहां नहीं जा रहा है। शाहीन बाग को हम आज भी सही नहीं मानते और न ही कल मानेंगे। मालूम हो कि शाहीन बाग को बीजेपी ने मुद्दा बनाया था।“

लोकप्रिय
next