'कर्नाटक में ठेकों में 40% कमीशन मांगने वाला मंत्री हो गिरफ्तार', राज्यपाल से मिलकर कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने की मांग

डीके शिवकुमार ने कहा कि राज्यपाल से मंत्री ईश्वरप्पा को बर्खास्त करने, उन्हें गिरफ्तार करने की अपील की है। दूसरा, उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया जाना चाहिए, क्योंकि वे ठेकेदार संतोष पाटिल से 40 फीसदी कमीशन मांगते थे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कर्नाटक में ठेकों में 40 फीसदी कमीशन मानले वालें बीजेपी सरकार के मंत्री को कांग्रेस ने बर्खास्त करने के साथ गिरफ्तार करने की मांग की है। इस मुद्दे पर कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने राज्य के राज्यपाल से मुलाकात की। राज्यपाल से मुलाकात के बाद कांग्रेस नेता ने कहा, "राज्यपाल से केएस ईश्वरप्पा को बर्खास्त करने, उन्हें गिरफ्तार करने की अपील की। दूसरा, उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया जाना चाहिए, क्योंकि वे ठेकेदार संतोष पाटिल (जिनकी बाद में आत्महत्या से मृत्यु हुई) सहित अपने ही लोगों से 40 फीसदी कमीशन मांगते थे।”

कांग्रेस नेता डीके शिवकुार ने बताया कि राज्यपाल ने हमें आश्वासन दिया हैं कि वे इस मामले पर संबंधित अधिकारियों से बात करेंगे

इस मामले में मौजूदा बीजेपी सरकार के आरोपी मंत्री ईश्वरप्पा पर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। मंत्री ईश्वरप्पा के खिलाफ यह एफआईआर ठेकेदार संतोष पाटिल सुसाइड केस में दर्ज की गई है। एआईआर में मंत्री ईश्वरप्पा के साथी बसवराज और रमेश के भी नाम शामिल हैं। एफआईआर ठेकेदार संतोष पाटिल के भाई प्रशांत की ओर दर्ज कराई गई है।

इससे पहले खुदकुशी करने वाले ठेकेदार संतोष पाटिल ने पीएम मोदी को एक पत्र लिखकर कहा था कि मंत्री ईश्वरप्पा ने उनसे काम के बदले 40 प्रतिशत कमीशन की मांग की थी। ठेकेदार संतोष पाटित द्वारा पीएम मोदी को लिखा गया खत काफी सुर्खियों में आया था। ठेकेदार ने ईश्वरप्पा पर आरोप लगाए थे कि वह उनके बकाया बिल का भुगतान करने के बदले में कमीशन की मांग की थी। ठेकेदार ने पीएम मोदी से अपील की थी कि वह उनका बकाया पैसा किसी तरह दिलवा दें। बाद में ठेकेदार ने खुदकुशी कर ली थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia