बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या भी उतरे मैदान में, कहा- सभी को हिंदू धर्म में वापस लाओ, मंदिरों-मठों के लिए हो टारगेट तय

हरिद्वार हेट कॉन्क्लेव में मुसलमानों के नरसंहार का आह्वान और रायपुर में बापू के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल किए जाने के बाद अब बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि मंदिरों और मठों का धर्म परिवर्तन कराने का लक्ष्य तय हो।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हरिद्वार और रायपुर के बाद बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या का एक बयान सामने आया है जिसमें उन्होंने कहा है कि हिंदुओं के सामने यही विकल्प है कि वह सबको हिंदू बनाएं। 25 दिसंबर को हुए एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा, "हिंदुओं के सामने अब सिर्फ एक ही विकल्प है कि वे उन सभी लोगों को वापस हिंदू धर्म में परिवर्तित करें जिन्होंने अपना मातृ धर्म छोड़ दिया है।" वे यहीं पर नहीं रुके। उन्होंने कहा कि, "मंदिरों और मठों का हर साल का टारगेट तय होना चाहिए कि उन्होंने कितने लोगों का धर्म परिवर्तन किया।"

ध्यान रहे तेजस्वी सूर्या अपने विवादित बयानों के चलते अकसर चर्चा में रहते हैं। उनके इस बयान को उस दृष्टि से देखा जा रहा है जिसमें आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा था कि सभी भारतवासियों का एक ही डीएनए है और वे सभी हिंदू हैं।

सूर्या बीजेपी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। उन्होंने कहा कि सिर्फ धर्म परिवर्तन रोकने से काम नहीं चलेगा। इस समय उन लोगों को प्राथमिकता देनी होगी जिन्हें हिंदू धर्म छोड़ दिया है। विश्वरपणम कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म की धार्मिक और सांस्कृति विरासत बचाने के लिए यह सब जरूरी है।


सूर्या ने कहा कि हिंदुओं को अपनी राजनीतिक ताकत का इस्तेमाल करना चाहिए। वे यहीं नहीं रुके। आगे कहा, "संख्याबल जहां लोकतंत्र में राजनीतिक ताकत देता है, वहीं जनसंख्या बल राष्ट्र का भविष्य तय करता है।" उन्होंने कहा कि, "हिंदुत्व के बिना हिंदू धर्म का अस्तित्व नहीं है। हिंदुत्व विचारधारा ही हिंदू धर्म पर होने वाले आक्रमणों के खिलाफ हमले करने की सीख देती है।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia