प्रशांत किशोर रिटायर हो रहे हैं, अब नहीं करेंगे चुनाव रणनीतिकार का काम, राजनीति में जाने पर लेंगे सोचने के बाद फैसला

प्रशांत किशोर संन्यास ले रहे हैं। उन्होंने एक टीवी चैनल के साथ बातचीत में इसका ऐलान किया। उन्होंने कहा कि वे चुनाव रणनीतिकार के तौर पर कभी काम नहीं करना चाहते थे लेकिन इसे किया और अब वे यह काम नहीं करेंगे। आगे की योजना का खुलासा उन्होंने अभी नहीं किया है।

फोन : Getty Images
फोन : Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

बंगाल चुनाव में ममता बनर्जी के चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर अब चुनाव संभालने का काम नहीं करेंगे, यानी वे चुनाव रणनीतिकार के तौर पर संन्यास ले रहे हैं। हालांकि उनका दावा और चुनौती सही साबित हुए हैं और बंगाल में ममता की सरकार बन रही है और बीजेपी 100 का आंकड़ा नहीं छू पा रही है।

प्रशांत किशोर ने इंडिया टुडे के साथ बातचीत में कहा कि वे अब चुनाव रणनीतिकार के तौर पर काम नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि वे कभी भी चुनाव रणनीतिकार के तौर पर काम नहीं करना चाहते थे। लेकिन फिर भी किया और वे इससे अलग हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनकी कंपनी आईपैक में उससे ज्यादा काबिल लोग हैं जो अच्छा काम करते रहेंगे और वे ब्रेक लेंगे। पीके के नाम से मशहूर प्रशांत किशोर ने कहा कि आगे वे क्या करेंगे अभी इस बारे में कुछ तय नहीं किया है और कुछ सोच कर ही फैसला लेंगे। उन्होंने कहा कि वे काफी लंबे समय से इस काम से अलग होने के बारे में सोच रहे थे लेकिन बंगाल चुनाव के कारण उन्होंने यह फैसला पहले नहीं लिया।

गौरतलब है कि बंगाल चुनाव से पहले प्रशांत किशोर ने दावा किया था कि अगर बीजेपी दो अंको का आंकड़ा पार कर ले तो वे संन्यास ले लेंगे। ताजा रुझानों के मुताबिक बीजेपी बंगाल में 80 सीटों के आसपास ही बढ़त पर है जबकि ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस 210 सीटों पर आगे चल रही है।

प्रशांत किशोर ने कहा कि वे फिलहाल राजनीति में जाने के बारे में नहीं सोच रहे क्योंकि वे इसमें क बार फेल हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि क्या कमी रह गई इस बारे में सोचकर ही कोई फैसला लूंगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय