गुजरात की कोर्ट से राहुल गांधी को मिली जमानत, नोटबंदी में बड़े पैमाने पर जमा कराए गए पैसों को लेकर उठाए थे सवाल

अहमदाबाद मेट्रोपोलिटन कोर्ट ने राहुल गांधी को मानहानि केस में जमानत दे दी है। राहुल गांधी के खिलाफ अहमदाबाद डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक और इसके चेयरमैन अजय पटेल ने आपराधिक मानहानि का केस दर्ज कराया था।

फोटो: Congress
फोटो: Congress

नवजीवन डेस्क

नोटबंदी के दौरान जमा पैसों को लेकर सवाल उठाने पर दर्ज मामले में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को अहमदाबाद मेट्रो कोर्ट से जमानत मिल गई है। राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक (एडीसीबी) और उसके चेयरमैन अजय पटेल ने दर्ज कराया था। बता दें कि राहुल गांधी ने नोटबंदी के दौरान बैंक पर गंभीर अनियमितता का आरोप लगाया था।

राहुल गांधी और कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने दावा किया था कि नोटबंदी के पांच दिन के अंदर करीब 745 करोड़ के पुराने नोट बदलने में के घोटाले में यह बैंक शामिल था। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी इस बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में शामिल हैं।

अहमदाबाद कोर्ट में अपनी पेशी से पहले राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, “आरएसएस/बीजेपी के मेरे राजनीतिक विरोधियों की तरफ से मेरे खिलाफ दाखिल किए गए एक दूसरे केस में पेश होने के लिए मैं आज अहमदाबाद में हूं। मुझे ऐसे प्लेटफॉर्म और चुनौतियां उपलब्ध कराकर उनके खिलाफ मेरी वैचारिक लड़ाई को जनता के सामने लाने के लिए मैं उनका शुक्रिया अदा करता हूं। सत्यमेव जयते।”

अहमदाबाद में मेट्रो कोर्ट में पेशी के लिए आए राहुल गांधी का कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। पेशी से पहले राहुल गांधी ने अहमदाबाद के लॉ गार्डन क्षेत्र की एक होटल में गुजराती भोजन का लुफ्त उठा। इस मौके पर होटल स्टाफ समेत अन्य लोगों ने राहुल गांधी के साथ सेल्फी ली।

इससे पहले राहुल गांधी को आरएसएस मानहानि केस में मुंबई की अदालत पहुंचे थे। कोर्ट में राहुल गांधी ने कहा था कि वे दोषी नहीं है। जमानत मिलने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि मुझ पर लगातार हमले हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि दस गुणा ज्यादा ताकत से लड़ेंगे। राहुल ने आगे कहा कि ये विचाराधारा की लड़ाई है।

इसे भी पढ़ें: पहले की तुलना में 10 गुना ज्यादा ताकत से लड़ूंगा, मैं गरीबों और किसानों के साथ हूं: राहुल गांधी

लोकप्रिय