#मी टू: यौन उत्पीड़न के आरोप में फंसे राहुल जौहरी पर गिरी गाज, आईसीसी की बैठक का नहीं होंगे हिस्सा 

यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर रहे बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) राहुल जौहरी सिंगापुर में आईसीसी की होने वाली आगामी बैठक में भाग नहीं लेंगे। इस बात की जानकारी बीसीसीआई ने दी है।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मी टू मूवमेंट के तहत यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर रहे बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) राहुल जौहरी के आईसीसी की बैठक में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। दरअसल, प्रशासकों की समिति (सीओए) ने आरोपों के स्पष्टीकरण के लिए उन्हें और समय देने का उनका अनुरोध ठुकरा दिया है। इनके बदले में बीसीसीआई के कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी आईसीसी की बैठक का प्रतिनिधित्व करेंगे। बीसीसआई के सूत्रों के मुताबिक आईसीसी की बैठक में राहुल जौहरी नहीं रहेंगे। उनके बदले में अमिताभ चौधरी बैठक में हिस्सा लेंगे। बैठक सिंगापुर में 16 से 19 अक्टूबर को होनी है।

सीओए प्रमुख विनोद राय ने कहा, “राहुल जहौरी ने विस्तृत स्पष्टीकरण के लिए 14 दिन का समय मांगा था। उन्होंने कहा था कि वह अपनी लीगल टीम के साथ काम कर रहे हैं क्योंकि उन्हें सिंगापुर में 16, 19 अक्टूबर तक होने वाली आईसीसी की बैठक में हिस्सा लेना है।” उन्होंने कहा, “हालांकि मैंने राहुल को स्पष्ट रूप से कहा कि मैं इस मुद्दे को 14 दिन तक खिंचने नहीं दे सकता क्योंकि इससे बीसीसीआई कार्यालय प्रभावित होगा। चूंकि वह अब अपने वकीलों के साथ चर्चा करना चाहते हैं, मैंने उन्हें आईसीसी बैठक से छूट की इजाजत दे दी।”

बता दें कि मी टू कैंपेन के तहत एक महिला पत्रकार की ओर से बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाए हैं। 2016 में बीसीसीआई में आने से पहले जौहरी डिस्कवरी नेटवर्क एशिया पैसिफिक (दक्षिण एशिया) के कार्यकारी उपाध्यक्ष थे। उन पर महिला पत्रकार ने नौकरी देने के बदले फायदा उठाने के इल्जाम लगाए हैं।

इसे भी पढ़ें: #मी टू: बीसीसीआई ने सीईओ राहुल जौहरी से एक हफ्ते में मांगा जवाब, महिला पत्रकार ने लगाए यौन उत्पीड़न के आरोप

लोकप्रिय
next