LAC के पास चीनी सैनिकों से भिड़े चरवाहे, कांग्रेस ने पूछा- जब कोई घुसा ही नहीं फिर हमारी जमीन पर चीन ने कैसे रखे पैर?

वीडियो LAC के पास का बताया जा रहा है, जहां चीनी सैनिक चरवाहों को भारतीय जमीन पर भेड़ चराने से रोकने की कोशिश करने लगे। जिसके चरवाहों के एक गुट की चीनी सैनिकों संग बहस हो गई।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

पवन नौटियाल @pawanautiyal

भारतीय जमीन पर 'चीनी घुसपैठ' ना होने के मोदी सरकार के दावे की एक बार फिर पोल खुल गई है। एक बार फिर साफ हो गया है कि मोदी सरकार देश के लोगों के सामने जिस 'सब चंगा सी' का दम भरती रही है, वो सब हवा हवाई थे। दरअसल, एक बार फिर भारत और चीन सीमा विवाद की नई तस्वीर सामने आई है। इस बार तस्वीरें लद्दाख से आई हैं।

LAC के पास से आई ये तस्वीर चीख चीख कर कह रही है कि सीमा पर कुछ भी ठीक नहीं है। दरअसल, इस बार तो चीन ने हद पार कर दी। चीन की सेना द्वारा कथित तौर पर भारतीय जमीन कब्जाने का सिलसिला अभी भी जारी है। हाल ही में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि ये वीडियो लद्दाख का है। LAC के पास चीनी सैनिक चरवाहों को भारतीय जमीन पर भेड़ चराने से रोकने की कोशिश करने लगे। जिसके बाद भेड़ चरा रहे चरवाहों के एक गुट की चीनी सैनिकों संग बहस हो गई।

क्या फिर PM मोदी चीन को देंगे क्लीनचिट: कांग्रेस

उधर, कांग्रेस ने ये वीडियो शेयर कर मोदी सरकार से सवाल पूछा है। कांग्रेस ने X पोस्ट में कहा कि 'इस वीडियो में चीन के सैनिक हमारी जमीन पर चरवाहों को जाने से रोक रहे हैं। चीन के सैनिकों की चरवाहों से झड़प भी हुई।

कांग्रेस ने मोदी सरकार से सवाल पूछा कि आखिर चीन की हिम्मत कैसे हो रही है? हमारी जमीन पर पैर रखने की इनकी जुर्रत कैसे हुई? क्या इस बार भी PM मोदी चीन को क्लीनचिट देते हुए कहेंगे - कोई घुसा नहीं। पोस्ट में आगे कहा कि सरकार को इस नापाक हरकत पर चीन को कड़े लहजे में संदेश देना चाहिए।


चीनी सैनिकों से भिड़े चरवाहे

दरअसल चीनी सैनिक उन्हें भेड़ चराने से रोकने की कोशिश कर रहे थे, जिसके बाद चरवाहों ने बहुत ही बहादुरी से इन सैनिकों का सामना किया। चरवाहों का समूह बहुत ही बहादुरी से चीनी सैनिकों के सामने खड़ा हो गया और दावा किया कि वह अपने क्षेत्र में हैं।

सामने आए वीडियो में तीन चीनी बख्तरबंद वाहन और कई सैनिक दिखाई दे रहे हैं। चरवाहों का कहना है कि वे भारतीय क्षेत्र में जानवर चरा रहे हैं। झगड़ा बढ़ते देखकर कुछ चरवाहे पत्थर उठाते दिख रहे हैं।

बताया जा रहा है कि यह न्योमा गांव के पास एलएसी का इलाका है। गांववालों के मुताबिक वे इस जगह पर अपने जानवरों को हमेशा ले जाते हैं। लेकिन चीनी सैनिक उसे अपना इलाका बताते हुए उन्हें रोकने लगे।

गांव वालों ने चीनी सैनिकों से कहा कि ये जगह उनकी है और ये उनका चरागाह है। गांव वालों ने चीनी सैनिकों से खूब बहस भी की और चीनी सैनिकों की गाड़ी पर पत्थर भी मारे। वीडियो में चीनी सैनिक पूरे घटनाक्रम को रेकॉर्ड करते दिख रहे हैं और चरवाहों से वापस जाने को कह रहे हैं। चीनी सैनिकों के आर्मर्ड वीइकल भी दिखाई दे रहे हैं।

राहुल गांधी भी कई बार उठा चुके हैं भारत-चीन सीमा विवाद का मुद्दा

गौरतलब है कि भारतीय सीमा पर चीन की एंट्री को लेकर विपक्ष हमेशा से सवाल उठाता रहा है, लेकिन पीएम की तरफ से कोई स्पष्ट जवाब अब तक नहीं मिल पाया है। इससे पहले भी 25 अगस्त 2023 को राहुल गांधी ने सीमा विवाद का मुद्दा उठाया था उन्होंने लद्दाख के अपने 9 दिवसीय दौरे के आखिरी दिन एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि, 'मैंने पिछले सप्ताह अपनी मोटरसाइकिल पर पूरे लद्दाख का दौरा किया। लद्दाख एक रणनीतिक स्थान है और जब मैं पैंगोंग झील क्षेत्र में था, तो एक बात स्पष्ट थी कि चीन ने हजारों किलोमीटर भारतीय भूमि पर कब्जा कर लिया है।

राहुल गांधी ने कहा था कि दुर्भाग्य से, प्रधानमंत्री एक बैठक के दौरान बयान देते हैं कि हमारी एक इंच भी जमीन नहीं छीनी गई, जो 'बिलकुल झूठ' है।' उन्होंने आरोप लगाया था, 'लद्दाख का हर व्यक्ति जानता है कि चीन ने हमारी जमीन छीन ली है और प्रधानमंत्री सच नहीं बोल रहे हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;