‘मिशन शक्ति’ को लेकर पीएम मोदी के संबोधन पर उठे सवाल, येचुरी ने चुनाव आयोग से की शिकायत

सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने पीएम के मिशन शक्ति की घोषणा पर चुनाव आयोग को खत लिखा है। उन्होंने पीएम के इस कदम को आचार संहिता का उल्लंघन बताया है। इसके साथ ही येचुरी ने चुनाव आयोग से पीएम मोदी राष्ट्र के नाम संबोधन की जानकारी होने को लेकर भी सवाल किया है।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पीएम मोदी द्वारा राष्ट्र को संबोधित करने के मामले की शिकायत चुनाव आयोग में की गई है। सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने इस मामले की शिकायत की है। चुनाव आयोग में शिकायत करने के बाद उन्होंने ट्वीट कर कहा, “देश उन विशेष कारणों को जानना चाहेगा कि चुनाव आयोग ने आम चुनावों के दौरान भारतीय वैज्ञानिकों की उपलब्धियों को राजनीतिक रूप से रंगने की अनुमति क्यों दी।” सीताराम येचुरी ने पीएम के इस कदम को आचार संहिता का उल्लंघन बताया है।

चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा को लिखे खत येचुरी ने कहा, “मैं आपका ध्यान चुनाव प्रचार के दौरान वैज्ञानिकों की सफलता की घोषणा पीएम द्वारा किए जाने की ओर दिलाना चाहता हूं। ऐसे मिशन के बारे में इससे जुड़े हुए वैज्ञानिक या फिर डीआरडीओ देश को जानकारी देते हैं। लेकिन यहां पर जानकारी उनकी बजाए पीएम मोदी ने दी।”

उन्होंने आगे लिखा कि पीएम मोदी खुद उम्मीदवार हैं और यह घोषणा चुनावी प्रचार अभियान के बीच में हुई है। ऐसे में यह साफ तौर दिख रहा है कि चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया गया है।”

इस दौरान सीताराम येचुरी ने चुनाव आयोग से सवाल पूछते हुए कहा कि क्या पीएम मोदी ने इस बात की जानकारी चुनाव आयोग को दी थी? क्या चुनाव आयोग ने पीएम मोदी को राष्ट्र के नाम संबोधन की अनुमति दी?।”

येचुरी ने आगे कहा, “यह विडंबना है कि आजादी के बाद मोदी सरकार उन सरकारों में से है, जिसने अनुसंधान और विकास और अन्य विज्ञान निधि के लिए रिकॉर्ड धनराशि को नष्ट कर दिया, जिसने निजी क्रोनियों (कंपनियों) की मदद करने के लिए एचएएल को दरकिनार किया। अब वह राजनीतिक लाभ लेने के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी में प्रगति का फायदा उठाने की कोशिश कर रही है। वाह, मोदी जी, वाह!”

वहीं पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने भी पीएम मोदी ने हमला बोला। उन्होंने कहा, “चुनाव के समय में पीएम मोदी को आदर्श आचार संहिता का उल्‍लंघन कर श्रेय लेने की क्‍या जरूरत थी। क्‍या वह वहां काम करते हैं? क्‍या वह अंतरिक्ष में जा रहे हैं?”

इसे भी पढ़ें: ‘मिशन शक्ति’ के लिए डीआरडीओ को राहुल गांधी, अखिलेश और मायावती ने दी बधाई, जानिए पीएम मोदी को क्या कहा

गौरतलब है कि मिशन शक्ति की जानकारी देते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि भारत ने आज अपना नाम अंतरिक्ष महाशक्ति के रूप में दर्ज करावाया है। अभी तक दुनिया के तीन देश को यह उपलब्धि हासिल है भारत चौथा देश बना है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;