विकास दुबे का सनसनीखेज खुलासा: पुलिस वालों की हत्या के लिए किया गया था मजबूर, सभी 8 शव जलाने की थी तैयारी

गैंग्सटर विकास दुबे और उसके साथियों ने 8 पुलिस वालों की हत्या करने के बाद सबूत मिटाने के लिए शवों को जलाने की तैयारी कर ली थी, लेकिन फोर्स पहुंचने के बाद उसे मौके से फरार होना पड़ा। यह खुलासा खुद विकास ने किया है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के साथ ही पूरे देश को दहला देने वाले कानपुर कांड का मुख्य आरोपी मध्य प्रदेश में पुलिस के हाथ आने के बाद कई राज खोल रहा है। एक हिंदी दैनिक की खबर के मुताबिक विकास दुबे ने 8 पुलिस वालों की हत्या करने के बाद उनके शव जलाने की तैयारी कर ली थी। उसने पुलिस को बताया कि इसके लिए उसने तेल का इंतजाम भी कर लिया था और शव जलाकर वह सबूत मिटाना चाहता था। उसने बताया कि पुलिस फोर्स आने के बाद उसे मौके से भागना पड़ा था।

विकास दुबे महाकाल का भक्त है। हर दिन वो दो घंटे पूजापाठ करता है। उसे यकीन हो गया था कि यूपी पुलिस के हत्थे चढ़ा तो वह मार दिया जाएगा। शायद इसी अकाल मौत से बचने के लिए उज्जैन महाकाल मंदिर पहुंचा। उज्जैन पुलिस की पूछताछ में उसने खुलासा भी किया है कि मंदिर परिसर पहुंचकर वह खुद को सुरक्षित महसूस कर रहा था।

ध्यान रहे कि विकास दुबे को उज्जैन के महाकाल मंदिर प्रांगण से गिरफ्तार किया गया है। बताया जाता है कि विकास दुबे महाकाल का भक्त है और रोज दो घंटे पूजा करता है। उसने बताया कि कांड करने के बाद उसके साथी एक एक कर पुलिस मुठभेड़ में मारे जा रहे थे, इसलिए कुछ लोगों की राय पर वह महाकाल मंदिर पहुंचा था। उसने एक और सनसनीखेज खुलासा किया है कि पुलिस वालों की हत्या के लिए उसे मजबूर किया गया था।

उसने बताया कि उसे जो सूचना मिली थी कि पुलिस उसका एनकाउंटर करने आ रही है, इसलिए उसने अपने साथियों को हथियारों के साथ अपने यहां बुला लिया था और एनकाउंटर के डर से उसने पुलिस पर फायरिंग की। उसने कहा कि उसे पुलिसकर्मियों पर गोली चलाने और उन्हें मौत के घाट उतारने पर मजबूर किया गया।

लोकप्रिय
next