हालात

जब गौतम गंभीर ने मुस्लिम युवक की पिटाई का उठाया मुद्दा, बीजेपी समर्थकों ने दी चुप रहने की नसीहत

पूर्वी दिल्ली से बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने मुस्लिम युवक के समर्थन में आवाज बुलंद की है। जिसके बाद उन्हीं की पार्टी शुभचिंतकों ने उन्हें आड़े हाथों लिया है। बीजेपी समर्थक बताने वाले एक यूजर अंकित जैन ने भी गौतम गंभीर से हिंदुओं के मुद्दों समेत हर मुद्दे पर बोलने या फिर चुप रहने के लिए कहा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

पूर्वी दिल्ली से बीजेपी के नवनिर्वाचित सांसद गौतम गंभीर द्वारा गुरुग्राम में धर्मिक टोपी पहनने पर एक मुस्लिम व्यक्ति के साथ मारपीट के खिलाफ ट्वीट करने पर, उन्हीं की पार्टी शुभचिंतकों ने उन्हें आड़े हाथों लिया है।

गौतम गंभीर ने इस घटना को लेकर दुखद जाहिर किया है। उन्होंने कहा, “गुरुग्राम में मुस्लिम युवक को उसकी धार्मिक टोपी हटाने और 'जय श्री राम' बोलने के लिए कहा गया। यह निंदनीय है। गुरुग्राम प्रशासन द्वारा अनुकरणीय कार्रवाई होनी चाहिए।” उन्होंने आगे कहा, “हम एक धर्मनिरपेक्ष देश में रहते हैं जहां जावेद अख्तर ‘ओ पालन हारे, निर्गुण और न्यारे’ लिखते हैं और राकेश ओम प्रकाश मेहरा की फिल्म ‘दिल्ली 6’ में ‘अर्जियां’ गीत होता है।” जिसके बाद सोशल मीडिया पर कई यूजर्स ने गौतम गंभीर को मामले उठाने में पक्षपात नहीं करने के लिए कहा है।

एक यूजर ‘चौकीदार’ किशोर भर्तवाल ने लिखा, “मथुरा के भारत यादव पर ट्वीट कीजिए, जिसे रोजा खोलने के लिए खरीदी गई लस्सी के पैसे मांगने पर मार दिया गया। या चुप बैठिए। उन विषाणुओं से प्रभावित ना हों जो पक्षपात कर मुद्दे उठाते हैं।”

खुद को बीजेपी समर्थक बताने वाले एक यूजर अंकित जैन ने भी गौतम गंभीर से हिंदुओं के मुद्दों समेत हर मुद्दे पर बोलने या फिर चुप रहने के लिए कहा। उन्होंने ट्वीट किया, “या तो हर मुद्दे पर बोलो या चुप रहो।”

गौतम गंभीर की धर्म निरपेक्षता पर सवाल करने वाले मैसेज आने पर पलटवार करते हुए कहा कि धर्म निरपेक्षता पर यह विचार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्र- 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास' से निकला है। उन्होंने ट्वीट किया, “मैं खुद को सिर्फ गुरुग्राम मामले तक ही नहीं रोकूंगा, जाति या धर्म के आधार पर कोई भी उत्पीड़न दुखद है। सहिष्णुता और समावेश पर ही भारत की विचारधारा आधारित है।”

गौतम गंभीर ने गुरुग्राम में एक मुस्लिम व्यक्ति पर हमले की निंदा कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी। वहीं गुरुग्राम पुलिस ने घटना को लेकर मामला दर्ज कर लिया है। दोषियों की पहचान के लिए पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज भी ले ली है।

इसे भी पढ़ें: गुरुग्राम में सरेआम गुंडागर्दी, ‘जय श्रीराम’ का नारा नहीं लगाने पर मुस्लिम युवक को पीटा, धार्मिक टोपी हटाई

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय