राहुल-प्रियंका गांधी के हठ के आगे योगी सरकार ने मानी हार! लखीमपुर खीरी जाने की दी इजाजत

उत्तर प्रदेश सरकार ने राहुल गांधी, प्रियंका गांधी सहित तीन नेताओं को लखीमपुर खीरी जाने की इजाजत दी है। राहुल गांधी लखनऊ के लिए रवाना हो चुके हैं। उनके साथ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी मौजूद हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और तीन अन्य लोगों को लखीमपुर खीरी जाने की अनुमति दे दी है। यूपी सरकार के गृह विभाग ने यह जानकारी दी है। राहुल गांंधी लखनऊ के लिए रवाना हो गए हैं। वहां से वह सीधे लखीमपुर खीरी जाएंगे।

इससे पहले योगी आदित्यनाथ सरकार ने राहुल गांधी के नेतृत्व वाले कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल को लखीमपुर खीरी का दौरा करने की इजाजत देने से इनकार कर दिया था। कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने राज्‍य सरकार से कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल को क्षेत्र का दौरा करने की इजाजत मांगी थी, लेकिन योगी सरकार ने इनकार कर दिया था। जिसके बाद राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और उत्तर प्रदेश और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला।


राहुल गांधी ने कहा कि कुछ समय से सरकार किसानों पर हमला कर रही है। एक ओर किसानों को जीप के नीचे कुचलकर मारा जा रहा है। बीजेपी के मंत्री और उनके बेटे की बात हो रही है, उनपर कोई एक्शन नहीं लिया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ व्यवस्थित तरीके से किसानों पर लगातार आक्रमण हो रहा है।

मीडिया के सवाल का जवाब देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि हम वहां जाकर परिवार से मिलना चाहते हैं। बाकी पार्टी को जाने दे रहे हैं, लेकिन सिर्फ कांग्रेस को क्यों रोका जा रहा है। राहुल गांधी ने कहा कि सरकार चाहति है कि कोई इस मुद्दे को ना उठाए।

इसे भी पढ़ें: लखीमपुर हिंसा: राहुल ने मोदी सरकार को बताया घमंडी, पूछा- किसानों को जीप से कुचला गया, मंत्री पर क्यों नहीं हुई कार्रवाई


बता दें कि रविवार को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य तय कार्यक्रम के तहत लखीमपुर खीरी के दौरे पर थे। उन्हें रिसीव करने के लिए गाड़ियां जा रही थीं। ये गाड़ियां केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा की बताई गईं। रास्ते में तिकुनिया इलाके में किसानों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। इससे झड़प हो गई। बाद में ऐसा आरोप लगाया गया कि आशीष मिश्रा ने किसानों के ऊपर गाड़ी चढ़ा दी, जिससे 4 लोगों की मौत हो गई। किसानों की मौत के बाद मामला बढ़ गया और हिंसा भड़क गई।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia