Gujarat Election 2022: चुनाव नतीजे से पहले ही AAP को खरीद-फरोख्त का डर, उम्मीदवारों को गुप्त ठिकाने पर भेजा

आप ने गुजरात में हॉर्स ट्रेडिंग के डर से 5 दिसंबर को होने वाले दूसरे चरण के उम्मीदवारों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट कर दिया है।

फोटो : IANS
फोटो : IANS
user

नवजीवन डेस्क

राजनीति में इन दिनों नेताओं और विधायकों की खरीद-फरोख्त के मामले कुछ ज्यादा ही सामने आ रहे हैं। इस डर से पार्टियां अपने विधायकों को किसी होटल या रिसोर्ट में शिफ्ट कर देते रहे हैं। लेकिन पहली बार कोई पार्टी अपने उम्मीदवारों को बचाती फिर रही है। दरअसल गुजरात चुनाव में पूरी तैयारी से उतरी आम आदमी पार्टी इन दिनों एक अलग ही डर से गुजर रही है। पार्टी को डर है कि कहीं उम्मीदवारों को ही न खरीद लिया जाए। इस डर से पार्टी ने अपने उम्मीदवारों को अलग जगहों पर शिफ्ट कर दिया है। आप ने गुजरात में हॉर्स ट्रेडिंग के डर से 5 दिसंबर को होने वाले दूसरे चरण के उम्मीदवारों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट कर दिया है। जनसत्ता की खबर के मुताबिक आम आदमी पार्टी ने ये कदम सूरत पूर्व विधानसभा के उम्मीदवार कंचन जरीवाला वाले मामले के बाद उठाया है।

बता दें कि इससे पहले आम आदमी पार्टी के सूरत पूर्व विधानसभा क्षेत्र के उम्मीदवार कंचन जरीवाला ने नामांकन वापस ले लिया था। एक नाटकीय घटनाक्रम में पहले जरीवाला के अपहरण की खबरें आई इसके बाद 17 नवंबर को कंचन जरीवाला ने अपना नामांकन वापस ले लिया था। आप का कहना था कि बीजेपी ने उसके उम्मीदवार को नामांकन वापस लेने के लिए मजबूर किया है। हालांंकि बीजेपी इन आरोपों को गलत बताया था।


आम आदमी पार्टी का कहना है कि बीजेपी उसके उम्मीदवारों को चुनाव लड़ने से रोकना चाहती है। जनसत्ता की खबर के मुताबिक इस मामले पर आम आदमी पार्टी के एक पदाधिकारी ने कहा, ‘हमने दूसरे चरण में दाखिल किए गए उम्मीदवारों को स्थानांतरित कर दिया है, ऐसा न हो कि सूरत पूर्व में जो कुछ हुआ था, वैसा ही कुछ हो। इन उम्मीदवारों के बारे में कुछ जानकारी यह भी थी कि बीजेपी उन पर नामांकन वापस लेने का दबाव बना रही थी।’

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;