खेल की 5 बड़ी खबरें: इरफान ने बताया 2013 में कैसा था धोनी का मिजाज और इंग्लैंड रवाना हुई PAK टीम

भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी 2013 चैम्पियंस ट्रॉफी में 2007 विश्व कप से ज्यादा शांत थे और कोरोना वायरस के खौफ के बीच पाकिस्तान क्रिकेट टीम रविवार को कोच मिस्बाह उल हक के साथ इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना हो गई।

@TheRealPCB
@TheRealPCB
user

नवजीवन डेस्क

धोनी 2013 चैम्पियंस ट्रॉफी में 2007 विश्व कप से ज्यादा शांत थे : इरफान

भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी 2013 चैम्पियंस ट्रॉफी में 2007 विश्व कप से ज्यादा शांत थे। धोनी की कप्तानी में ही भारत ने दोनों ट्रॉफियां जीती थीं। इरफान दोनों जीतों में भारतीय टीम का हिस्सा थे और जीत में अहम रोल निभाया था। इरफान ने स्टार स्पोटर्स के शो पर कहा, "वह 2013 में 2007 की अपेक्षा ज्यादा शांत थे। 2007 में वह पहली बार कप्तान थे और आप समझते हैं कि जब आपको देश की कप्तानी करने की जिम्मेदारी दी जाती है तो आप कुछ चीजों को लेकर उत्साहित हो जाते हो।" उन्होंने कहा, "हां 2007 में और 2013 में बैठकें तो छोटी ही रहती थीं। पांच मिनट की बैठक को लेकर कोई बदलाव नहीं हुआ था। लेकिन एक चीज हुई थी और वो अनुभव के साथ होती है। जब युवा धोनी 2007 में कप्तान बने थे वह विकेटकीपिंग एंड से गेंदबाज के पास भाग कर जाते थे और गेंदबाज को नियंत्रित करने की कोशिश करते थे।" बाएं हाथ के इस खिलाड़ी ने कहा, "2013 में वह गेंदबाजों को अपने मर्जी से चीजें करने दे रहे थे क्योंकि वह इस बात को समझ गए थे। 2013 चैम्पियंस ट्रॉफी में वह काफी शांत और नियंत्रित थे।"

इसे भी पढ़ें- जांच के चलते हटाए गए BCA अध्यक्ष और इस साल टी20 विश्व कप होना संभव

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

कोरोना के खौफ के बीच इंग्लैंड रवाना हुई PAK टीम

कोरोना वायरस के खौफ के बीच पाकिस्तान क्रिकेट टीम रविवार को कोच मिस्बाह उल हक के साथ इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना हो गई। पाकिस्तान को इस दौरे पर मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ बंद दरवाजों के पीछे 3 टेस्ट और 3 टी-20 इंटरनेशनल मैचों की सीरीज खेलनी है। पाकिस्तानी टीम के सभी 20 सदस्यों का यात्रा से पहले परीक्षण किया गया, जिन्हें कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया उन्हें इंग्लैंड जाने वाले इस दल के साथ यात्रा की अनुमति नहीं मिली। इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना होने के दौरान खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ के सदस्यों ने काफी सावधानी बरती और हर किसी ने मास्क पहना हुआ था और सभी एक दूसरे से दूरी बनाए हुए थे।

वकार यूनिस बोले- 1992 वर्ल्ड कप से बाहर रहना मेरे करियर का सबसे दुखद पल

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार यूनिस ने चोट के कारण वर्ल्ड कप 1992 से बाहर रहने के अपने दुखद क्षण को एक बार फिर से याद किया है। वकार यूनिस को वर्ल्ड कप 1992 से पहले ही चोट लग गई थी और इसके बाद उन्हें घर पर बैठकर ही पाकिस्तान को विश्व विजेता बनते हुए देखना पड़ा था। पाकिस्तान ने इमरान खान की कप्तानी में 1992 वर्ल्ड कप अपने नाम किया था। क्रिकेट पाकिस्तान की रिपोर्ट के अनुसार वकार यूनिस ने कहा, 'वह (टूर्नामेंट) मेरे लिए सही समय नहीं था। मैं चोटिल हो गया था। टूर्नामेंट से पहले ही मेरी पीठ में खिंचाव आ गया था।' वकार यूनिस ने कहा, 'मैं टीम के साथ उस दौरे पर था। एक अभ्यास मैच के दौरान मेरे पिछले हिस्से में चोट लग गई और इसके बाद मैं वर्ल्ड कप का हिस्सा नहीं बन सका।'

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

महिला क्रिकेट को प्रचार और निवेश की जरूरत :शिखा पांडे

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सदस्य शिखा पांडे ने रविवार को कहा है कि महिला क्रिकेट की बेहतरी नियम, गेंद का आकार, पिच का आकार बदलने से नहीं होगी बल्कि इसके लिए प्रचार-प्रसार के अलावा जमीनी स्तर पर विकास की जरूरत है। शिखा (30) ने कहा कि उन्होंने हाल ही महिला क्रिकेट के प्रचार-प्रसार के लिए किए जाने वाले बदलावों के बारे में सुना जिसमें गेंद व पिच का आकार बदलने और बाउंड्री को छोटा करने के बारे में बातें हो रही हैं। शिखा ने ट्विटर पर कई ट्वीट में लिखा, "मैं उन सब बदलावों के बारे में सुन-पढ़ रही हूं जो महिला क्रिकेट की बेहतरी के लिए चर्चा में हैं और जिनकी सिफारिश की जा रही है ताकि महिला क्रिकेट को ज्यादा आकर्षक बनाया जाए। मुझे निजी तौर पर लगता है कि यह सभी सुझाव निर्थक हैं।"

फोटो: IANS
फोटो: IANS

रियो डी जनेरियो में फैन्स को 10 जुलाई से स्टेडियम में प्रवेश की अनुमति

ब्राजील के रियो डी जनेरियो के मेयर मार्सेलो क्रिवेला के आदेश के बाद शहर में फुटबाल फैन्स को 10 जुलाई से मैच देखने के लिए स्टेडियम में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। आदेश के मुताबिक, स्टेडियमों की क्षमता एक तिहाई से ज्यादा नहीं होगी और प्रत्येक चार वर्ग मीटर के अंदर एक दर्शक होगा। इसके अलावा, क्लबों को सौनास, स्विमिंग पूल और हॉट टब को छोड़कर अपने सभी प्रशिक्षण सुविधाओं का उपयोग करने की अनुमति दी गई है। रियो डी जनेरियो की राज्य प्रतियोगिता 18 जून से शुरू होगी। कोरोनावायरस महामारी के कारण करीब तीन महीने तक यह चैंपियनशिप स्थगित पड़ी हुई थी। इससे पहले, ब्राजील फुटबाल परिसंघ (सीबीएफ) ने कहा था कि ब्राजील की सेरी-ए चैंपियनशिप अगस्त में शुरू होगी। लीग को अभी राज्य और स्वास्थ्य अधिकारियों से मंजूरी मिलना बाकी है। सीबीएफ के अध्यक्ष और क्लब के प्रतिनिधियों ने देश की शीर्ष लीग को शुरू करने के लिए नौ अगस्त की अस्थाई तारीख तय की है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय