खेल की 5 बड़ी खबरें: आज ही के दिन युवराज-कैफ ने लॉर्डस में रचा था इतिहास और कोरोना काल में इंडीज का जीत से आगाज

भारत ने आज ही के दिन साल 2002 में लॉर्डस मैदान पर नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में ऐतिहासिक जीत हासिल की थी और कोरोना काल के पहले इंटरनेशनल मैच में वेस्टइंडीज ने जीत के साथ आगाज किया है। इंग्लैंड को उसी की धरती पर पहले टेस्ट मैच में 4 विकेट से मात दे दी।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

आज ही के दिन युवराज, कैफ ने लॉर्डस में रचा था इतिहास

आज ही के दिन 13 जुलाई को 18 साल पहले सौरव गांगुली की युवा टीम ने वो उपलब्धि हासिल की थी जो हर भारतीय के दिमाग में हमेशा के लिए घर कर गई थी, जिसे कभी नहीं भुलाया जा सकता और इस कहानी की इबारत लिखी थी गांगुली की टीम के दो युवा- युवारज सिंह और मोहम्मद कैफ ने। भारत ने 2002 में लॉर्डस मैदान पर नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में ऐतिहासिक जीत हासिल की थी। नासीर हुसैन की कप्तानी वाली इंग्लैंड टीम ने उस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच विकेट के नुकसान पर 325 रन बनाए थे। मार्कस ट्रैस्कोथिक ने 109 और कप्तान हुसैन ने 115 रनों की पारियां खेली थीं। विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए गांगुली और वीरेंद्र सहवाग ने पहले विकेट के लिए 106 रनों की साझेदारी की थी। लेकिन यहां से टीम अचानक से लड़खड़ा गई और 24 ओवरों में उसका स्कोर 146 रनों पर पांच विकेट हो गया। गांगुली के आउट होन के बाद भारत ने नियमित अंतराल पर सहवाग, दिनेश मोंगिया, राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर के विकेट खो दिए।

यहां से कैफ और युवराज ने पारी को संभाला और साझेदारी करते हुए टीम की जीत की दहलीज पर ले गए। दोनों ने मिलकर 106 गेंदों पर 121 रनों की साझेदारी की और भारत को वापस मैच में ला दिया। पॉल कॉलिंगवुड ने युवराज को 69 के निजी स्कोर पर पवेलियन भेज दिया और यहां लगा कि भारत जीत से महरूम हो सकता है। कैफ ने हालांकि हरभजन सिंह के साथ 47 रनों की साझेदारी कर टीम को मैच में ही बनाए रखा। हरभजन और अनिल कुंबले के आउट होने के बाद भी कैफ ने एक छोर संभाले रखते हुए भारत को जीत दिलाई। कैफ 75 गेंदों पर 87 रन बना नाबाद लौटे। मैच मे जीत हासिल करने के बाद कप्तान गांगुली ने लॉर्डस मैदान की बालकनी में टी-शर्ट उतार कर लहराई थी जिसकी चर्चा आजतक होती रहती है। इस मैच को गांगुली की इस हरकत के लिए भी हमेशा याद किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें- गांगुली बोले-अभी मैं जवान हूं, ICC चेयरमैन बनने की जल्दी नहीं और इस फुटबॉलर ने लिया संन्यास

फोटो: IANS
फोटो: IANS

कोरोना काल में वेस्टइंडीज का जीत से आगाज

कोरोना काल के पहले इंटरनेशनल मैच में वेस्टइंडीज ने जीत के साथ आगाज किया है। बता दें कि कोरोना काल में ये पहली अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट सीरीज है, जिसमें बदले हुए हालात में दोनों टीमें खेल रही थी। कैरेबियाई टीम ने मेजबान इंग्लैंड को उसी की धरती पर पहले टेस्ट मैच में 4 विकेट से मात दे दी। इसी के साथ ही मेहमान वेस्टइंडीज ने तीन मैचों की मौजूदा टेस्ट सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली। सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच गुरुवार 16 जुलाई को मैनचेस्टर में खेला जाएगा। वेस्टइंडीज के लिए जर्मेन ब्लैकवुड ने सबसे ज्यादा 95 रन बनाए। ब्लैकवुड का यह 11वां अर्धशतक था।

फोटो: @ICC
फोटो: @ICC

स्वतंत्र न्यायाधीश ने उमर अकमल की अपील पर फैसला सुरक्षित रखा

सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज फकीर मोहम्मद खोखर ने स्वतंत्र न्यायाधीश के तौर पर उमर अकमल की अपील पर उनका पक्ष सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया है। 27 अप्रैल को अनुशासन समिति के चेयरमैन न्यायाधीश (सेवानिवृत) फजल-ए-मिरान चौहान ने उमर अकमल को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की भ्रष्टाचार रोधी नियम के अनुच्छेद 2.4.4 के उल्लंघन का दोषी मानते हुए तीन साल के लिए उन्हें प्रतिबंधित कर दिया था। जब तक आदेश सार्वजनिक नहीं किया जाता तब तक पीसीबी इस मामले पर कुछ भी नहीं कहेगी। पीसीबी ने उमर अकमल के ऊपर लगे प्रतिबंध की जानकारी एक ट्वीट करते हुए दी थी। उमर ने पहले बताया था कि उन्हें भारत के खिलाफ खेले जाने वाले मैच में न खेलने के लिए पैसा देने का प्रस्ताव दिया गया था। उनसे एक सट्टेबाज ने मैच में दो गेंदें छोड़ने को कहा था।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

विशाल अंटिल बोले- मैंने हमेशा सरदार सिंह की तरफ देखा है

विशाल अंटिल जब बेंगलुरू स्थित साई केंद्र में आए थे तो वह अपने सीनियर सरदार सिंह को बड़े ध्यान से देखते थे। भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान का अनुशासन, खेल पर फोकस और पेशेवर रवैया अंटिल को काफी प्रभावित कर गया था। अंटिल ने एक कहा, "आपको सीखने के लिए उनसे बात करने की जरूरत नहीं है आप सिर्फ उन्हें देखकर ही काफी कुछ सीख सकते हैं। वह काफी अनुशासन में रहते हैं और फोकस रहते हैं। वह कभी बाहरी तत्वों को मानसिक तौर पर हावी नहीं होने देते और वह अपने शरीर का हमेशा ख्याल रखते हैं। 9:30 के बाद उनके कमरे की लाइट बंद हो जाती हैं। यह एक महान खिलाड़ी की विशेषताएं हैं।"उन्होंने कहा, "राष्ट्रीय स्तर पर कोई खिलाड़ी अगर नया हो उसके लिए सरदार सिंह से सीखने के लिए काफी कुछ है। मुझे हालांकि उनसे बात करने का मौका कभी नहीं मिला और न ही मैं उनसे बात करने की हिम्मत जुटा पाया, लेकिन मैंने हमेशा उन पर ध्यान दिया और उन्हें ध्यान से देखा। उनका अनुशासन शानदार है।"

फोटो: IANS
फोटो: IANS

सेरी-ए: मिलान ने नेपोली को 2-2 से ड्रॉ पर रोका

इटालियन क्लब एसी मिलान ने सेरी-ए लीग में अपना अजेयक्रम जारी रखते हुए नेपोली को 2-2 से ड्रॉ पर रोक दिया। नैपोली की तरफ से जियोवानी डि लोरेंजो और ड्राइस मर्टन्स ने गोल किए। मिलान को थियो हनार्डेज ने शुरू में बढ़त दिलायी थी जबकि खेल खत्म होने से 17 मिनट पहले फ्रैंक केसी ने पेनल्टी पर बराबरी का गोल किया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, लीग के फिर से शुरू होने के बाद मिलान की टीम शानदार फॉर्म में चल रही है। टीम ने चार मैच जीते हैं और एक ड्रॉ खेला है। मिलान के लिए थियो हनार्डेज ने 20वें मिनट में जबकि फ्रैंक केसी ने 73वें मिनट में पेनल्टी पर बराबरी का गोल किया। नेपोली के लिए जियोवानी डि लोरेंजो और ड्राइस मर्टन्स ने गोल दागे।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय
next