आर्थिक मोर्चे पर मोदी सरकार को एक और झटका, 8 बुनियादी उद्योगों का उत्पादन अगस्त में घटा, 0.5 % की बड़ी गिरावट 

बुनियादी क्षेत्र के आठ इंडस्ट्रीज का उत्पादन इस साल अगस्त में सालाना आधार पर 0.5 फीसदी गिर गया। सोमवार को जारी सरकारी आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-अगस्त में बुनियादी उद्योगों की उत्पादन वृद्धि दर 2.4 फीसदी है। जबकि पिछले वित्त वर्ष अगस्त में वृद्धि दर 5.7 फीसदी थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

बिगड़ी अर्थव्यवस्था के बीच मोदी सरकार के लिए एक बुरी खबर है। 8 बुनियादी उद्योगों का उत्पादन अगस्त में 0.5 प्रतिशत घटा गया है। 8 कोर इंडस्ट्रीज का संयुक्त सूचकांक अगस्त, 2019 में 128.2 था, जो अगस्त, 2018 के सूचकांक की तुलना में 0.5 प्रतिशत कम हो गया। सोमवार को जारी सरकारी आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-अगस्त अवधि में बुनियादी उद्योगों की उत्पादन वृद्धि दर 2.4 प्रतिशत है।

पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में इनकी वृद्धि दर 5.7 प्रतिशत थी। आठ प्रमुख उद्योगों में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उवर्रक, इस्पात, सीमेंट और बिजली शामिल है। पिछले साल अगस्त में इन क्षेत्रों का उत्पादन सालाना आधार पर 4.7 प्रतिशत ऊंचा रहा था।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार अगस्त 2019 में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, सीमेंट और बिजली क्षेत्र में क्रमश: 8.6 प्रतिशत, 5.4 प्रतिशत, 3.9 प्रतिशत, 4.9 प्रतिशत और 2.9 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी है। हालांकि उवर्रक, इस्पात और रिफाइनरी उत्पाद का उत्पादन गतवर्ष अगस्त की तुलना में क्रमश: 2.9 प्रतिशत, पांच प्रतिशत और 2.6 प्रतिशत बढ़ा है।

आठ प्रमुख उद्योग में कोयला, क्रूड, ऑयल, नेचुरल गैस, रिफाइनरी प्रोडक्ट्स, फर्टिलाइजर्स, स्टील, सीमेंट और इलेक्ट्रिसिटी आते हैं। इनकी भारत के कुल इंडस्ट्रियल आउटपुट (औद्योगिक उत्पादन) में करीब 40 फीसद हिस्सेदारी होती है।

इसे भी पढ़ें: श्रीनगर की फल-सब्जी मंडी में पसरा है सन्नाटा, सरकारी खरीद केंद्र पर सिर्फ मीडिया के लिए है हलचल

Published: 30 Sep 2019, 7:01 PM
लोकप्रिय