'INDIA' गठबंधन की ताकत से घबराई मोदी सरकार! खड़गे बोले- छापेमारी और गिरफ्तारियों के लिए हमें रहना होगा तैयार

कांग्रेस अध्यक्ष ने इस बात पर जोर दिया कि जितना अधिक इंडिया गठबंधन मजबूत होगा उतना ही अधिक बीजेपी सरकार विपक्षी नेताओं के खिलाफ एजेंसियों का दुरुपयोग करेगी।

फोटो: @kharge
फोटो: @kharge
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मुंबई में विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया' के बैठक के दौरान सहयोगी दलों के नेताओं से अपील की कि वे आने वाने कुछ महीनों में प्रतिशोध की और कार्रवाई, छापेमारी तथा गिरफ्तारी के लिए तैयार रहें क्योंकि यह गठबंधन जमीन पर जितना मजबूत होगा, सरकार उसके खिलाफ कानून प्रवर्तन एजेंसियों का उतना ही ज्यादा दुरुपयोग करेगी। उन्होंने बताया कि इंडिया गठबंधन की बढ़ती ताकत से सरकार परेशान है।

उन्होंने देश में हेट क्राइम्स में वृद्धि के लिए बीजेपी और आरएसएस पर भी निशाना साधा। इसके साथ राज्यों को नियंत्रण में रखने की कोशिश करने का भी आरोप लगाया।

बैठक के दूसरे दिन इंडिया ब्लॉक के नेताओं को संबोधित करते हुए मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि पटना और बेंगलुरु में हमारी दोनों बैठकों की सफलता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषणों में न सिर्फ हम पर हमला बोला है, हमारे प्यारे देश के नाम की तुलना आतंकवादी संगठन और गुलामी के प्रतीक से की।

उन्होंने कहा कि हमें इस सरकार की प्रतिशोध की राजनीति के कारण आने वाले महीनों में और अधिक हमलों, अधिक छापेमारी और गिरफ्तारियों के लिए तैयार रहना चाहिए।


कांग्रेस नेता ने इस बात पर जोर दिया कि जितना अधिक इंडिया गठबंधन मजबूत होगा उतना ही अधिक बीजेपी सरकार विपक्षी नेताओं के खिलाफ एजेंसियों का दुरुपयोग करेगी। उन्होंने महाराष्ट्र, राजस्थान, पश्चिम बंगाल में केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाइयों और झारखंड के साथ छत्तीसगढ़ में हाल की घटनाओं का भी उदाहरण दिया।

खड़गे ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आज हमारे समाज का हर वर्ग - चाहे वह किसान, युवा, महिलाएं, हाशिए पर रहने वाले लोग, मध्यम वर्ग, बुद्धिजीवी, गैर सरकारी संगठन और पत्रकार हो - सभी बीजेपी के सत्तावादी कुशासन के शिकार हैं। हमारी तरफ 140 करोड़ भारतीय अपने दुखों को दूर करने की आशा के साथ देख रहे हैं। 

बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर पलटवार करते हुए खड़गे ने कहा, "भाजपा और आरएसएस ने पिछले नौ वर्षों में जो सांप्रदायिक जहर फैलाया है, वह अब निर्दोष ट्रेन यात्रियों और निर्दोष स्कूली बच्चों के खिलाफ हेट क्राइम्स के रूप में देखा जा रहा है।

इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि जब देश के एक हिस्से में भयानक बलात्कार में शामिल लोगों को रिहा किया जाता है और सम्मानित किया जाता है, तो दूसरे हिस्से में भयानक अपराधों और नग्न महिलाओं की परेड को बढ़ावा मिलता है। मोदी जी के भारत में कारगिल युद्ध के एक वीर की पत्नी को भी नहीं बख्शा जाता है।''

कांग्रेस अध्यक्ष ट्रेन में आरपीएफ कांस्टेबल के चार लोगों की हत्या करने, मणिपुर में महिलाओं की नग्न परेड, बिलकिस बानो बलात्कार के आरोपी की रिहाई का जिक्र कर रहे थे।

उन्होंने मध्य प्रदेश की घटना का जिक्र करते हुए कहा, "यह हाशिये पर पड़े लोगों के प्रति भाजपा सरकार की उदासीनता है, जिसके कारण उनके नेता गरीब आदिवासियों और दलितों पर पेशाब करते हैं। दोषियों को खुलेआम घूमने के लिए छोड़ दिया जाता है।"

सरकार की आलोचना करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार राज्यों को नियंत्रण में रखना चाहती है।


उन्होंने कहा कि राज्यों को कर राजस्व के उनके हिस्से से वंचित किया जा रहा है। विपक्ष शासित राज्यों को मनरेगा का बकाया नहीं दिया जा रहा है। वित्त आयोग की सिफारिश के अनुसार विशेष अनुदान और राज्य विशिष्ट अनुदान जारी नहीं किए जाते हैं। इन्वेस्टर्स को इन्वेस्टमेंट और परियोजनाओं को विपक्ष शासित राज्यों की जगह भाजपा सरकार वाले राज्यों में ले जाने के लिए मजबूर किया जाता है।

खड़गे ने सवाल किया कि उन्होंने (राहुल गांधी) मॉरीशस स्थित कंपनी से राउंड ट्रिपिंग के आरोपों और अपारदर्शी निवेश की रिपोर्ट की जेपीसी जांच की मांग की। यह समझ से बाहर है कि प्रधानमंत्री इस मामले (अडानी केस) की जांच क्यों नहीं करा रहे हैं?

खड़गे ने आरोप लगाया कि बीजेपी एजेंसियों और संस्थानों पर पूर्ण नियंत्रण चाहती है - वह ईडी प्रमुख, सीबीआई निदेशक, चुनाव आयुक्तों, यहां तक कि देश भर की अदालतों के न्यायाधीशों की नियुक्ति को नियंत्रित करने पर अड़ी हुई है।

खड़गे के मुताबिक तीन बैठकों के दौरान इंडिया गठबंधन ने एक संयुक्त मोर्चे के रूप में संसद के भीतर और बाहर दोनों जगह सरकार को सफलतापूर्वक जवाबदेह बनाया है। हमारी ताकत सरकार को परेशान करती है। यही कारण है कि इसने संसद में महत्वपूर्ण विधेयकों को आगे बढ़ाया है, हमारे सांसदों को मामूली बात पर निलंबित कर दिया है।

हमारे खिलाफ विशेषाधिकार प्रस्ताव दायर किया, हमारे माइक बंद कर दिए, कैमरों को हमारे विरोध-प्रदर्शन को कवर करने की अनुमति नहीं दी, संसद टीवी पर हमारे भाषणों को खुलेआम सेंसर कर दिया।

खड़गे ने खासतौर पर जिक्र किया, "चंद्रयान 3 और इसरो के हमारे वैज्ञानिकों की सफलता, नीरज चोपड़ा और शतरंज के जादूगर प्रगनानंद जैसे खिलाड़ियों की सफलता हम सभी को गौरवान्वित करती है। मैं अगली पीढ़ी को प्रेरित करने के लिए उन सभी को उनकी सफलता पर बधाई देना चाहता हूं।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;