हरियाणा में भी बढ़ेगा लॉकडाउन : गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल और नूंह रेड जोन में, उद्योगों को सशर्त अनुमति

हरियाणा में भी लॉकडाउन को दो सप्ताह के लिए बढ़ाया जाएगा, लेकिन इस बार राज्य को तीन जोन में बांटा जा रहा है। जिन इलाकों में केस कम मिले हैं वहां कुछ रियायतें होंगी। साथ ही 15 अप्रैल से हरियाणा में उद्योगों को काम शुरु करने की सशर्त मंजूरी भी दी जाएगी।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

धीरेंद्र अवस्थी

हरियाणा सरकार ने यह फैसला कर लिया है कि लॉकडाउन पार्ट-2 में प्रदेश को तीन जोन में बांटा जाएगा। कोरोना संक्रमण के हॉट स्‍पॉट बने गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल और नूंह को मिलाकर रेड जोन बनाया जाएगा। साथ ही कुछ शर्तों के साथ राज्‍य में आर्थिक गतिविधियों को शुरू किया जाएगा। सरकार पाबंदियों के साथ उद्योगों को खोलने की अनुमति दे सकती है, लेकिन पलायन कर चुके मजदूरों के बिना यह कैसे संभव होगा यह भविष्‍य बताएगा। सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती 15 अप्रैल से शुरू होने वाली रबी फसलों की खरीद है।

राज्‍य सरकार पूरे प्रदेश को तीन क्षेत्रों में बांटने जा रही है। कोरोना से सबसे ज्‍यादा प्रभावित क्षेत्रों को मिलाकर रेड जोन बनाया जाएगा। यहां सख्ती से लॉकडाउन का पालन करवाया जाएगा। इसमें गुरुग्राम, नूंह, पलवल और फरीदाबाद शामिल होंगे। इसके बाद दूसरी कैटेगरी ऑरेंज जोन की होगी। इसमें वे जिले होंगे, जहां अभी कम मामले सामने आए हैं, लेकिन यहां भी लोग क्वारंटाइन किए गए हैं। इसके बाद तीसरी कैटेगरी में वह इलाके होंगे, जहां अभी तक कोई मामला नहीं आया है या बहुत कम केस आए हैं।

सरकार छोटे उद्योगों को कुछ शर्तों के साथ काम शुरू करने की अनुमति देने जा रही है। यहां काम करने वाले कर्मचारियों में सोशल डिस्टेंसिंग बना कर रखनी होगी। रात में वहीं रखना होगा साथ ही उनके भोजन की व्यवस्था भी करनी होगी। सरकार ने अपेक्षा की है कि व्‍यापारी इसके लिए एक पूरा प्‍लान बना लें।


इसके अलावा 15 अप्रैल से सरसों और 20 अप्रैल से गेहूं की खरीद शुरू होने जा रही है। लॉकडाउन के चलते खरीद पहले ही लेट हो चुकी है। मंडियों में मजदूरों के बिना सरकार के लिए यह बड़ी चुनौती है।

हरियाणा में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 169

शनिवार को आए पांच नए मरीजों के साथ हरियाणा में अब यह आंकड़ा 169 पर पहुंच गया है। इसमें जमात से जुड़े लोगों की संख्‍या 113 है। मेवात का नूंह जिला 38 मरीजों के साथ पहले पायदान पर है, जिसमें 37 जमाती है। इसके बाद गुरुग्राम में 32, पलवल में 29 और फरीदाबाद में 29 कोरोना पॉजिटिव केस हैं। पानीपत में 4, अंबाला में 7, भिवानी में 2, कैथल में 2, सिरसा में 3, पंचकूला में 5, हिसार में 2, यमुनानगर में 2, झज्जर (बहादुरगढ़) में 1, रोहतक में 1, करनाल में 6, चरखी दादरी 1, जींद 1, फतेहाबाद 1 और सोनीपत में 3 कोरोना पॉजिटिव मामले आ चुके है।

7 सेहत कर्मचारी भी कोरोना पॉजिटिव

सबसे चिंता की बात यह है कि राज्‍य में अब तक 7 स्वास्थ्य कर्मचारी भी कोरोना के पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। सबसे पहले पंचकूला में एक स्‍टॉफ नर्स कोरोना संक्रमित मरीज का इलाज करते हुए पॉजिटिव पाई गई थी। फिर पानीपत की एक नर्स में संक्रमण मिला। करनाल में एक डॉक्टर व एक स्टाफ नर्स भी कोरोना मरीज का इलाज करते हुए संक्रमित हो गए थे। फरीदाबाद में एक मेडिकल कर्मी और बहादुरगढ़ में एक नर्स पॉजिटिव आई। शनिवार को करनाल में एक स्टाफ नर्स संक्रमित मिली है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia