Getting Latest Election Result...

गरीबों पर ही पड़ेगी लॉकडाउन 2 की भी मार! चिदंबरम बोले- ‘मोदी का संबोधन मात्र बयानबाजी, रोओ, मेरे प्यारे देश’

कोरोना वायरस से निपटने के लिए देश में लॉकडाउन की मियाद को बढ़ा दिया गया है। अब तीन मई तक लॉकडाउन लागू रहेगा। वहीं कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने लॉकडाउन के फैसले की तारीफ तो की है लेकिन उन्होंने आर्थिक पैकेज का ऐलान नहीं होने पर सवाल खड़े किए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में लॉकडाउन पार्ट-2 का ऐलान कर दिया है। प्रधानमंत्री ने तीन मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ा दिया है। पीएम मोदी ने कहा है कि 3 मई तक हम सभी को, हर देशवासी को लॉकडाउन में ही रहना होगा। वहीं कांग्रेस नेता अभिषेक सिंघवी ने कहा, “पीएम मोदी का संबोधन बयानबाजी, बारीकियों पर खोखला। कोई वित्तीय पैकेज नहीं, न तो गरीब के लिए और न ही मध्यम वर्ग के लिए।”

उन्होंने एक और ट्वीट में कहा, “प्रधानमंत्री का भाषण प्रेरणादायी था, लेकिन किसी आर्थिक पैकेज का ऐलान नहीं, किसी सटीक जानकारी नहीं। ना ही गरीब-ना मिडिल क्लास और ना ही कारोबारियों के लिए कुछ ऐलान किया गया, लॉकडाउन सही है लेकिन लोगों के जीवनयापन का क्या।”


वहीं पी चिदंबरम ने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि गरीबों को खुद के लिए छोड़ दिया गया है। उन्होंने कहा, "हम पीएम के नए साल की शुभकामनाएं देते हैं। हम लॉकडाउन का विस्तार करने की मजबूरी को समझते हैं। हम फैसले का समर्थन करते हैं। पैसे के लिए सीएम की मांग का कोई जवाब नहीं मिला।”

उन्होंने अगले ट्वीट में कहा, “25 मार्च, 2020 के पैकेज में एक रुपया नहीं जोड़ा गया है।

उन्होंने आगे कहा, “गरीबों को 21 + 19 दिनों के लिए खुद को रोकना छोड़ दिया गया है, जिसमें व्यावहारिक रूप से भोजन की मांग भी शामिल है। पैसा है, खाना है, लेकिन सरकार पैसा या खाना नहीं छोड़ेगी। रो, मेरे प्यारे देश, ”

राज्यसभा सांसद और कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा, “देश में लॉकडाउन के 20 दिन हो चुके हैं। इस संक्रमण से देश और दुनिया को गहरी चोट पहुंची है। इससे अर्थव्यवस्था भी चरमरा गई है। इस संकट के कारण पहले से कमजोर भारतीय अर्थव्यवस्था के सामने कई चुनौतियां आ गई है। इसलिए एक रणनीति सामने लाने की जरूरत है।”


वहीं आनंद शर्मा ने आगे कहा, “लॉकडाउन को हटाने के लिए तीन चरणों की बात हो रही है। प्रथम चरण में कुछ आर्थिक गतिविधियों की शुरुआत। यहां बड़ी संख्या में दिहाड़ी मजदूर हैं। आनंद शर्मा ने कहा है कि MSMEs को पुनर्जीवित किया जाए, राज्यों को संसाधन दिए जाएं। जीएसटी के रिफंड अभी नहीं दिए गए, न ही मनरेगा के भुगतान किया गया है। इस पर ध्यान देना आवश्यक है। आर्थिक पैकेज का भी पार्ट- 2 आना जरूरी है।”

वहीं लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा कि लोगों में पहले से एक संदेश था कि लॉकडाउन बढ़ेगा, इसमें कुछ नई बात नहीं है। देश के लिए लॉकडाउन बढ़ाना जरूरी है, देश को बचाना सबसे जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: लॉकडाउन-2 का ऐलान: 3 मई तक बढ़ी अवधि, 20 अप्रैल तक रहे हालात नियंत्रित, तो कुछ जगहों पर मिलेगी राहत

लॉकडाउन-2: इस बार 19 दिन रहेगा, पीएम ने देश से मांगे ये 7 वचन, कहा- लोगों को नौकरी से न निकालें

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 14 Apr 2020, 12:05 PM