जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाने का विरोध करने पर उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती पर देशद्रोह का केस दर्ज

जम्‍मू-कश्‍मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्‍छेद 370 और 35ए हटाये जाने के खिलाफ बयान देने को लेकर जम्‍मू कश्‍मीर के दो पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती और उमर अब्‍दुल्‍ला पर बिहार में देशद्राेह के मुकदमे किए गए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुला सहित कई नेताओं के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज हुआ है। ये मुकदमें में बिहार के पश्चिम चंपारण जिले के बेतिया कोर्ट में दर्ज कराए गए हैं। वकील ने देशद्रोह का मामला इसलिए दर्ज करवाया है क्योंकि इन नेताओं ने अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने का विरोध किया था। वकील का कहना है, “कोर्ट ने मामले पर संज्ञान लिया है। अगली सुनवाई 24 सितंबर को होगी।”

जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाने का विरोध करने पर उमर अब्दुल्ला और  महबूबा मुफ्ती पर देशद्रोह का केस दर्ज

वकील अली मुराद ने बताया है कि मैंने महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला और अन्य नेताओें पर आईपीसी की धारा 124 ए (सरकर के खिलाफ कुछ लिखना या बोलना, संविधान का अपमान करना), 153 ए (धर्म, नस्ल, भाषा आदि के तहत लोगों में नफरत फैलाने का काम करना) 153 बी, 504 (शांति भंग करने की कोशिश करना),120 बी के कहत केस दायर कराया है।

जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाने का विरोध करने पर उमर अब्दुल्ला और  महबूबा मुफ्ती पर देशद्रोह का केस दर्ज

बता दें कि केंद्र सरकार ने जब से जम्मू-कश्मीर से 370 को हटाया गया है तभी से महबूबा मुफ्ती समेत कई नेता इसका कड़ा विरोध कर रहे हैं। महबूबा मुफ्ती ने इसका विरोध करते हुए भारतीय लोकतंत्र का काला दिन भी बता दिया था।

नेशनल कॉफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने को लेकर यह बयान दिया था कि भारत सरकार का यह फैसला घाटी के लोगों के साथ किया गया धोखा है। गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटाए जाने से पहले पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती और नेशनल कॉफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला को नजरबंद किया गया था।

इसे भी पढ़ें: महबूबा मुफ्ती की बेटी का गुस्सा, कहा-कश्मीरियों को जानवरों की तरह घरों में कैद कर दिया गया है

फारूक बोले- हम ग्रेनेडबाज या पत्थरबाज नहीं, नेताओं के गिरफ्तारी पर राहुल ने जताई नाराजगी, पढ़िए अभी तक की सभी बड़ी खबरें

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 07 Aug 2019, 4:37 PM
;