कोरोना को लेकर टेंशन! अलर्ट पर भारत, आज राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक करेंगे हेल्थ मिनिस्टर मांडविया

कोरोना की आशंका के बीच राज्य सरकारें भी सतर्क हो गई हैं। अधिकारी बैठकें कर इससे बचाव की रणनीति बनाने में जुट गए हैं। इसके साथ ही कोरोना जांच तेज करने के लिए आदेश दिए गए हैं।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

चीन में कोरोना के महाविस्फोट को देखते हुए भारत सरकार अलर्ट पर है। आज दोपहर 3 बजे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ कोविड-19 की स्थिति और तैयारियों को लेकर बैठक करेंगे। इस बीच,कोरोना की आशंका के बीच राज्य सरकारें भी सतर्क हो गई हैं। अधिकारी बैठकें कर इससे बचाव की रणनीति बनाने में जुट गए हैं। इसके साथ ही कोरोना जांच तेज करने के लिए आदेश दिए गए हैं।

पीएम ने कल की थी हाई लेवल की बैठक

गुरुवार को पीएम मोदी ने शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारियों के संग उच्चस्तरीय बैठक की। बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया और नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई स्वास्थ्य विशेषज्ञ वर्चुअल माध्यम से शामिल हुए। बैठक में कोविड की ताजा स्थिति की समीक्षा करते हुए पीएम मोदी ने लोगों से मास्क लगाने की अपील की। उन्होंने कहा कि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है, हमें सतर्क रहने की जरूरत है।


संसद में स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना पर दी थी जानकारी

कोरोना वैश्विक महामारी अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुई है। अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विदेश से आने वाले हवाई यात्रियों की 2 प्रतिशत कोविड-19 आरटीपीसीआर रेंडम सैंपलिंग ली जा रही है। हमें कोविड-19 वैक्सीन का प्रिकॉशन डोज लगाकर, कोविड- प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सतर्क रहना चाहिए। गुरुवार को सदन में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने यह बातें कही। उन्होंने कहा कि मैं सदन के सभी सदस्यों से इन प्रयासों में सहयोग चाहता हूं।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि पिछले कई दिनों से दुनिया के कई देशों में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि दर्ज की जा रही है, लेकिन पिछले 1 साल से भारत के कोविड-19 में सतत कमी दर्ज होती दिख रही है। वर्तमान में प्रत्येक दिन औसतन 153 नए कोविड केस देश में दर्ज हो रहे हैं। वहीं दूसरी ओर दुनिया में प्रतिदिन 5.87 लाख कोविड-19 केस दर्ज हो रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जापान, साउथ कोरिया, अमेरिका, फ्रांस, ग्रीस, इटली जैसे देशों में कोविड-19 के केसों में और कोविड से मृत्यु की संख्या में वृद्धि देखी जा रही है। पिछले कुछ दिनों में चीन से भी कोविड-19 के नए केस और कोविड-19 से होने वाली मृत्यु की खबरें आ रही हैं। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग ने शुरू से ही कोविड-19 महामारी का मैनेजमेंट किया है जिसके अच्छे परिणाम भी हमें मिले हैं।

चीन में कहर बरपा रहा है कोरोना का नया वेरिएंट

चीन समेत दुनिया के कई हिस्सों में कहर बरपा रहे कोरोना का साया भारत पर भी मंडराने लगा है। कोरोना के ओमिक्रॉन सब बेरिएंट BF.7 के मामले देश में सामने आ गए हैं। बता दें, चीन में कोरोना के नये वेरिएंट बीएफ 7 ने भारी तबाही मचा रखी है। कोरोना से मरने वालों की संख्या में रोजाना इजाफा हो रहा है, वहीं दूसरी ओर संक्रमण के मामलों से अस्पताल में जगह की कमी हो गयी है। चीन सहित कई देशों में कोरोना के बढ़ते मामलों से डब्ल्यूएचओ भी चिंतित है। महानिदेशक टेड्रोस अदनोम गेब्रेयेसस ने कहा कि चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों की खबरों को लेकर बेहद चिंतित हैं, क्योंकि देश ने अपनी ‘शून्य कोविड’ नीति को मोटे तौर पर छोड़ दिया है, जिसके परिणामस्वरूप बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं।


कोरोना के नए वेरिएंट के लक्षण क्या हैं?

नए बीएफ.7 सब-वैरिएंट के लक्षण सामान्य फ्लू के समान हैं। इसमें सर्दी, खांसी, बुखार, शरीर में दर्द जैसी परेशानियां हो रही हैं। यह अत्यधिक संक्रामक है। यह कम अवधि के भीतर लोगों के एक बड़े समूह में फैल जाता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, सार्वजनिक स्थानों पर सावधानी बरतना बेहद अहम है। जानकारनों कहा कि हम देखते हैं कि लोग थोड़े लापरवाह हो गए हैं क्योंकि कोविड-19 के दौरान बनाए गए कई नियमों को हटा दिया गया है। इसलिए अब यह अहम है कि हम कम से कम बुनियादी उपायों का पालन करें।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;