अभी खत्म नहीं हुआ कुख्यात विकास दुबे का चैप्टर! अब मददगारों पर पुलिस की नजर, दो गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश में विकास दुबे एनकाउंटर के बाद पुलिस पूरे एक्शन में है। विकास दुबे का खात्मा होने के बाद अब यूपी एसटीएफ उसके साथियों और मददगारों की धरपकड़ कर रही है। पुलिस लगातार विकास दुबे और उसके गैंग को शरण देने वालों पर शिकंजा कस रही है।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कुख्यात विकास दुबे का चैप्टर अभी खत्म नहीं हुआ है। विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस की कार्रवाई अभी भी जारी है। पुलिस अब विकास दुबे को शरण देने वालों पर शिकंजा कस रही है। पुलिस ने इस मामले को लेकर मध्य प्रदेश में ग्वालियर के रहने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है। खबरों के मुताबिक, पुलिस ने जिन लोगों को गिरफ्तार किया है, उनके ऊपर आरोप है कि उन्होंने गैंगस्टर विकास दुबे के दो साथियों को अपने यहां शरण दी।

खबरों के मुताबिक, पुलिस ने जिन दो लोगों को गिरफ्तार किया है उनका नाम ओम प्रकाश पाण्डेय और अनिल पाण्डेय हैं। कानपुर पुलिस ने बताया कि दोनों लोगों के खिलाफ कानपुर में केस दर्ज है। खबरों के मुताबिक, कानपुर एनकाउंटर मामले में शशिकांत पांडेय उर्फ सोनू और शिवम दुबे को ओम प्रकाश पांडेय और अनिल पांडेय ने अपने छिपाए था।

बता दें कि विकास दुबे ने 9 जुलाई सुबह करीब 9.30 बजे के करीब उज्जैन के महाकाल मंदिर में सरेंडर किया था। विकास दुबे को बीते शुक्रवार कानपुर लाया जा रहा था, लेकिन इस दौरान अचानक गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे एक घायल पुलिसकर्मी का हथियार छीनकर भागने लगा और फायरिंग करनी शुरू कर दी। जवाबी फायरिंग में उसे गोली लगी और इलाज के लिए अस्पताल ले जाते वक्त उसकी मौत हो गई।

इसे भी पढ़ें: एक मंत्री की सरपरस्ती, एक वकील की सलाह और एनकाउंटर न होने की गारंटी पर दी थी विकास दुबे ने गिरफ्तारी

कुख्यात विकास दुबे के अंतिम संस्कार के बाद पत्नी भड़की, कहा- जरूरत पड़ी तो बंदूक भी उठाऊंगी

Published: 11 Jul 2020, 11:57 AM
लोकप्रिय
next