राजनीति

बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी का महिलाओं पर शर्मनाक बयान, कहा- ‘हिजड़ा’ बनाकर महिलाओं को सीएम ले गए सबरीमाला

सबरीमाला विवाद पर बीजेपी नेता मीनाक्षी लेखी ने विवादित बयान देते हुए कहा कि अगर प्रदेश सरकार यहां महिलाओं से पूजा करानी चाहती थी तो उन्हें दिन में लेकर जाती, उन्हें रात को हिजड़ा बनाकर ले जाने के पीछे क्या वजह है। इससे मुख्यमंत्री की मंशा साफ जाहिर होती है कि वे क्या चाहते थे।

फोटो: सोशल मीडिया 

नवजीवन डेस्क

सबरीमाला मंदिर का विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। एक ओर बीजेपी के नेता और कार्यकर्ता लगातार हिंसक प्रदर्शन कर रहे हैं तो दूसरी ओर बीजेपी के कई नेता विवादित बयानबाजी से बाज नहीं आ रहे हैं। आलम यह है कि सबरीमाला मंदिर विवाद को लेकर बीजेपी की महिला नेता भी अब महिलाओं की दुश्मन बन गई हैं। इस कड़ी में बीजेपी की महिला नेता मीनाक्षी लेखी का नाम जुड़ गया है। उन्होंने विवादित बयान देते हुए कहा, “अगर प्रदेश सरकार यहां महिलाओं से पूजा करानी चाहती थी तो उन्हें दिन में लेकर जाती, उन्हें रात को हिजड़ा बनाकर ले जाने के पीछे क्या वजह है। इससे सीएम की मंशा साफ जाहिर होती है कि वे क्या चाहते थे।”

सबरीमाला मंदिर पर बीजेपी नेता का विवादित बयान का कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले बुधवार को मीडिया से बातचीत के दौरान केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े ने न सिर्फ भाषा बल्कि सौम्यता की भी सारी हदें पार कर दी थी। अनंत हेगड़ने सबरीमाला मंदिर के मुद्दे पर केरल सरकार को घेरते हुए कहा था, “केरल सरकार पूरी तरह नाकाम साबित हुई है। उन्होंने कहा कि मंदिर में महिलाओं का प्रवेश बिल्कुल ऐसा ही है जैसे दिनदहाड़े हिंदुओं से बलात्कार।”

इसे भी पढ़ें: वीडियो: देखें मोदी सरकार के मंत्री के सबरीमाला मामले पर कैसे बिगड़े बोल-कहा, यह दिनदहाड़े हिंदुओं का बलात्कार

बता दें कि गुरूवार को सबरीमाला मंदिर में 40 साल की उम्र की दो महिलाओं के प्रवेश को लेकर बीजेपी और हिंदूवादी संगठनों ने उग्र और हिंसक प्रदर्शन किया था। हिंसक प्रदर्शन के दौरान में राज्य परिवहन की 79 बसों को नुकसान पहुंचाया गया था। जबकि 39 पुलिसकर्मियों और मीडियाकर्मियों पर भी हमले किए गए थे।

इस हिंसक प्रदर्शन को लेकर केरल के सीएम पिनाराई विजयन ने आरएसएस पर हमला बोला था और कहा “संघ परिवार सबरीमाला को लड़ाई का मैदान बनाना चाहता है।” उन्होंने आगे कहा था कि महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करना सरकार की जिम्मेदारी है। सरकार ने इस जिम्मेदारी को निभाया है।

इसे भी पढ़ें: सबरीमाला: बंद के दौरान बीजेपी समेत कई संगठनों का उग्र प्रदर्शन, 1 की मौत, 80 से ज्यादा गाड़ियों में तोड़फोड़

Published: 4 Jan 2019, 2:03 PM
लोकप्रिय