Results For "democracy "

आकार पटेल का लेख: हिंदुत्व नीतियों पर दुनिया की चिंता के सवाल पर क्यों भाग खड़े हुए विदेश मंत्री !

विचार

आकार पटेल का लेख: हिंदुत्व नीतियों पर दुनिया की चिंता के सवाल पर क्यों भाग खड़े हुए विदेश मंत्री !

राम पुनियानी का लेख: देश पर एक पार्टी की तानशाही स्थापित करना चाहती है BJP, क्या भारत में बच पाएगा प्रजातंत्र?

विचार

राम पुनियानी का लेख: देश पर एक पार्टी की तानशाही स्थापित करना चाहती है BJP, क्या भारत में बच पाएगा प्रजातंत्र?

ममता ने सोनिया, स्टालिन समेत विपक्षी नेताओं को लिखी चिट्ठी, कहा- लोकतंत्र और संविधान बचाने के लिए बीजेपी के खिलाफ एकजुट हों

हालात

ममता ने सोनिया, स्टालिन समेत विपक्षी नेताओं को लिखी चिट्ठी, कहा- लोकतंत्र और संविधान बचाने के लिए बीजेपी के खिलाफ एकजुट हों

आकार पटेल का लेख: क्या हम पाकिस्तान जैसे ही धार्मिक राष्ट्र बन चुके हैं, मतदाता क्यों नहीं देखते असली मुद्दे !

विचार

आकार पटेल का लेख: क्या हम पाकिस्तान जैसे ही धार्मिक राष्ट्र बन चुके हैं, मतदाता क्यों नहीं देखते असली मुद्दे !

खरी-खरी: जब ज़ुल्म के बंधन टूटेंगे, वह सुबह हमीं  से आएगी

विचार

खरी-खरी: जब ज़ुल्म के बंधन टूटेंगे, वह सुबह हमीं से आएगी

आकार पटेल का लेख: दुनिया को दिख रही हमारे देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था में लगातार गिरावट, लेकिन सरकार मस्त है

विचार

आकार पटेल का लेख: दुनिया को दिख रही हमारे देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था में लगातार गिरावट, लेकिन सरकार मस्त है

लोकतंत्र के रास्ते से भटक गया है भारत, फ्रीडम हाऊस ने भारत की रैंकिंग घटाकर 'आंशिक स्वतंत्र' देश के रूप में की

हालात

लोकतंत्र के रास्ते से भटक गया है भारत, फ्रीडम हाऊस ने भारत की रैंकिंग घटाकर 'आंशिक स्वतंत्र' देश के रूप में की

देश की लोकतांत्रिक अवधारणा पर सोचा समझा हमला किया जा रहा है: प्रोफेसर कौशिक बसु के साथ संवाद में राहुल गांधी

हालात

देश की लोकतांत्रिक अवधारणा पर सोचा समझा हमला किया जा रहा है: प्रोफेसर कौशिक बसु के साथ संवाद में राहुल गांधी

दिशा रवि पर फैसले से जज साहब ने खींच दी लंबी लकीर, लोक को तंत्र का निशाना बनने से भी बचाया

विचार

दिशा रवि पर फैसले से जज साहब ने खींच दी लंबी लकीर, लोक को तंत्र का निशाना बनने से भी बचाया

आकार पटेल का लेख: रिहाना के तो पीछे हाथ धोकर पड़ गए थे, लेकिन वाशिंगटन पोस्ट और द इकोनॉमिस्ट पर क्यों है चुप्पी!

विचार

आकार पटेल का लेख: रिहाना के तो पीछे हाथ धोकर पड़ गए थे, लेकिन वाशिंगटन पोस्ट और द इकोनॉमिस्ट पर क्यों है चुप्पी!