उन्नाव रेप पीड़िता के साथ सड़क हादसे की जांच के लिए एसआईटी गठित, सीबीआई जांच की हो चुकी है घोषणा

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुए सड़क हादसे की जांच के लिए यूपी पुलिस ने एसआईटी का गठन किया है। इस हादसे में रेप पीड़िता और उनके वकील गंभीर रूप से घायल हुए हैं, जबकि पीड़िता की दो महिला रिश्तेदारों की मौत हो गई है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश पुलिस ने उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुए भीषण सड़क हादसे की जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया है। एसआईट गठन की जानकारी देते हुए प्रदेश की पुलिस महानिरिक्षक (विधि-व्यवस्था) प्रवीण कुमार ने कहा कि यह एसआईटी सीबीआई के मामले की जांच अपने हाथ में लेने तक घटना के सभी पहलुओं की जांच करेगी।

उन्होंने बताया कि रविवार को रायबरेली में हुए हादसे की जांच के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रायबरेली शाही शेखर के नेतृत्व में एक एसआईटी का गठन किया गया है, जिसमें सर्कल अधिकारी गोपीनाथ सोनी, लक्ष्मीकांत गौतम और आरपी शाही भी सदस्य होंगे। इससे पहले सोमवार की रात को हादसे के बाद बढ़ते दबाव और परिजनों की मांग पर प्रदेश की योगी सरकार ने घटना की सीबीआई जांच के आदेश दिए थे।

इसे भी पढ़ेंः उन्नाव कांड: सड़क से संसद तक हंगामा, सदन में शाह से मांगा जवाब तो प्रियंका की पीएम से अपील- आरोपी को न दें शह

बता दें कि रेप पीड़िता के साथ हुए सड़क हादसे के संबंध में दर्ज एफआईआर में नामजद 10 आरोपियों में बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का नाम भी शामिल है। रायबरेली के गुरुबख्शगंज पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 302 (हत्या), 307 (हत्या का प्रयास), 506 (आपराधिक दुर्भावना), 120बी(आपराधिक साजिश) के तहत दर्ज एफआईआर में 15-20 अज्ञात लोगों को भी आरोपी बनाया गया है।

इसे भी पढ़ेंः उन्नाव रेप कांड: सड़क हादसे में नया खुलासा, एसपी नेता के भाई का था ट्रक, पीड़ित परिवार अस्पताल के बाहर धरने पर

गौरतलब है कि बांगेरमऊ से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पीड़िता के साथ रेप मामले में साल 2018 में गिरफ्तार किया गया था। उसी केस के सिलसिले में रविवार को पीड़िता अपने परिवार और वकील के साथ कार से कहीं जा रही थी कि तभी संदिग्ध परिस्थितियों में एक ट्रक ने उनकी गाड़ी को जबरदस्त टक्कर मार दिया। इस हादसे में पीड़िता और उसके वकील की हालत गंभीर बनी हुई है, जबकि पीड़िता की दो रिश्तेदार महिलाओं की मौत हो गई।

इसे भी पढ़ेंः उन्नाव रेप कांड: हादसे के बाद चीख-चीखकर उठ रहे सवालों का देना होगा जवाब, क्या ये साजिशन हत्या है?

इस घटना ने उत्तर प्रदेश से लेकर दिल्ली तक को हिला कर रख दिया है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ से लेकर दिल्ली में संसद से लेकर सड़कों तक इस मामले की गूंज देखी जा रही है। लखनऊ में कांग्रेस के साथ ही कई सामाजिक संगठन लगातार रेप पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए सड़कों पर हैं। वहीं कांग्रेस ने सोमवार के बाद मंगलवार को इस मुद्दे को संसद में उठाया और पीड़िता को इंसाफ दिलाने की मांग की।

इसे भी पढ़ेंः उन्नाव रेप कांड: हादसे को लेकर पीड़िता की मां और बहन ने किए कई खुलासे, प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर उठाए सवाल

लोकप्रिय