जनतंत्र

फोटोः सोशल मीडिया

विचार

राम पुनियानी का लेखः ज्ञानवापी मस्जिद पर विवाद, पीछे की ओर यात्रा की शुरुआत

फोटो: सोशल मीडिया

मनोरंजन

रिज अहमद के ऑस्कर पुरस्कार के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता की श्रेणी में नामांकन पर एशिया में उत्सव क्यों?

फोटो : सोशल मीडिया

विचार

आकार पटेल का लेख: 'नो मी लॉर्ड', भारत में नहीं है मर्जी का धर्म चुनने की आजादी, राज्यों के कानून तो देख लें एक बार

फोटो: सोशल मीडिया

विचार

मृणाल पाण्डे का लेख: बाबा साहेब की महान विरासत और हमारा वर्तमान राज-समाज

फोटो : सोशल मीडिया

विचार

फणीश्वर नाथ रेणु की पुण्यतिथि: आंचलिक भाषा को हिंदी में समाहित करने वाले अनूठे लेखक

फाइल फोटोः सोशल मीडिया

विचार

विष्णु नागर का व्यंग्यः मोदी जी दुस्वप्नों से परेशान, पीएम होकर भी कभी बंगाल, कभी असम का सीएम बन जाते हैं!

फाइल फोटोः सोशल मीडिया

विचार

किसान ऐसे ही नहीं कर रहे अडानी-अंबानी का विरोध, खुद पीएम बार-बार कर रहे हैं उनकी शंका की पुष्टि

फोटोः सोशल मीडिया

विचार

म्यांमार में दिल दहलाने वाले जुल्म, अपने ही लोगों के खिलाफ युद्ध की तैयारी में सेना, दुविधा में पड़ा भारत चुप

फोटोः संडे नवजीवन

विचार

किसान आंदोलनः अमेरिकी किसान भी गौर से भारत की ओर देख रहे हैं, अफसोस में हैं कि पहले क्यों चुप रह गए

वरिष्ठ पत्रकार प्रभाकर मणि तिवारी इन दिनों बंगाल के विभिन्न इलाकों में घूम रहे हैं। उन्होंने यह तस्वीर नंदीग्राम में 30 मार्च को खींची। लेकिन उनका कहना है कि इस तरह का दृश्य उन्हें जगह-जगह देखने को मिल रहा है। साफ है कि बीजेपी ने विभिन्न रंगों  और डिजाइन में कपड़े वोटरों को दिए हैं। चुनाव आयोग की इस पर नजर क्यों नहीं पड़ पा रही है और वह कार्रवाई
करने से क्यों हि चक रही है, कहना मुश्किल नहीं है।

विचार

जब चुनाव आयोग खुद ही बन जाए पक्ष तो किसे याद दिलाएं 'राजधर्म'

फोटो : सोशल मीडिया

विचार

सॉरी सरकार, आम लोग नहीं, बल्कि सरकारी और नौकरशाही की लापरवाही से बेकाबू हुआ है कोरोना संक्रमण

फोटो : सोशल मीडिया

विचार

खरी-खरी: ममता बनाम मोदी युद्ध में देश की लोकतांत्रिक प्रणाली की साख भी दांव पर है बंगाल चुनाव में

फोटो: सोशल मीडिया

विचार

राम पुनियानी का लेख: देश पर एक पार्टी की तानशाही स्थापित करना चाहती है BJP, क्या भारत में बच पाएगा प्रजातंत्र?